जागरण संवाददाता, बागेश्वर : जिला मुख्यालय सहित ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की किल्लत बढ़ती जा रही है। नगरपालिका क्षेत्र में तो हाल और भी खराब है। यहां लोगों को 20 रुपये में 15 लीटर पानी नदियों से ढुलान कर अपनी जरुरतों को पूरा करना पड़ रहा है।

जिले के नदीगांव, मंडलसेरा, कठायतबाड़ा, सैंज आदि में पानी की भारी किल्लत है। इससे नगरपालिका की लगभग 30 हजार की आबादी प्रभावित है। पानी के लिए लोग प्राकृतिक जल स्त्रोतों पर ही निर्भर हैं। लेकिन बारिश नही होने से यहां का पानी भी बहुत कम हो गया है। हाल यह है कि लोग अपनी जररुतों को पूरा करने के लिए नदियों से पानी ढुलवा रहे है। इसके लिए उन्होंने रिक्शे वालों या दिहाड़ी मजदूरों से संपर्क किया है। हाल यह है कि 15 लीटर पानी 20 रुपये में मिल रहा है। वहीं जल संस्थान पानी की सप्लाई करने में पूरी तरह असफल ही साबित हो रहा है। पेयजल पं¨पग योजना पूरी क्षमता से काम नही कर रही है। जिससे करीब 40 फीसदी उपभोक्ताओं को ही पानी मिल रहा है। जबकि नगर में प्रति व्यक्ति 130 लीटर पानी उपलब्ध कराना जलसंस्थान की जिम्मेदारी है।

उपभोक्ता गंगा देवी, कुंदन ¨सह, कमला देवी, हंसी देवी, विमला जोशी, दीवान ¨सह, किशन राम, शोभा देवी आदि ने बताया कि मांग के अनुसार पानी नहीं मिल रहा है। नहाने, कपड़ा धोने और मवेशियों के लिए पानी खरीदना पड़ रहा है।

........

चार टैंकरों से बांटा जा रहा है पानी

जिला मुख्यालय में जलसंस्थान चार टैंकरों से पानी की सप्लाई कर रहा है। उसके पास अपना सिर्फ एक टैंकर है। तीन टैंकर किराए के है। विभाग प्राथमिकता से लोगों को पानी की सप्लाई कर है। इससे भी समस्या का समाधान नहीं हो रहा है।

---

पानी की समस्या है। लोगों को दिक्कत ना हो इसके लिए टैंकरों के जरिए पानी का वितरण किया जा रहा है। उम्मीद है कि जल्द ही पानी की समस्या का समाधान होगा।

-नंदकिशोर, अधिशासी अभियंता, बागेश्वर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस