जागरण संवाददाता, बागेश्वर : प्राथमिक विद्यालय जाखनी में पढ़ रहे 11 बच्चों का भविष्य अधर में लटक गया है। चार दिन पूर्व एकल शिक्षक का तबादला हो गया है। अब शिक्षा मित्र के हवाले स्कूल की व्यवस्थाएं हैं। इतना ही नहीं बरसात में स्कूल की छत टपक भी रही है। मध्याह्न भोजन कक्ष जीर्णशीर्ण हालत में है और भोजन कक्षा-कक्षों में बनाया जा रहा है। अभिभावकों में व्यवस्था को लेकर भारी रोष है। उन्होंने शिक्षक की तैनाती जल्द से जल्द करने की मांग की है।

विद्यालय प्रबंधन समिति के अध्यक्ष सुरेंद्र प्रसाद के नेतृत्व में अभिभावकों ने जिला शिक्षाधिकारी को दिए ज्ञापन में कहा कि राजकीय प्राथमिक विद्यालय जाखनी में तैनात सहायक अध्यापक का तबादला हो गया है। स्कूल में ग्रामीण क्षेत्र के गरीब बच्चे पढ़ रहे हैं। वर्तमान में कक्षा एक से पांच तक कक्षाएं संचालित हो रही हैं। शिक्षक का तबादला होने पर 11 बच्चों का भविष्य अधर में लटक गया है। उन्होंने बताया कि एक शिक्षा मित्र तैनात हैं। जिनकी जिम्मेदारी बढ़ गई है। उन्हें मध्याह्न भोजन से लेकर अन्य काम भी दिखने पड़ रहे हैं। उन्होंने बताया कि स्कूल भवन जर्जर हालत में पहुंच गया है। बरसात में छत टपकती है और बच्चों के कापी-किताब भीग जाते हैं। मध्याह्न भोजन को बना कमरा भी पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है। भोजन आदि कक्षा-कक्ष या फिर बरामदे में बन रहा है। अभिभावकों ने कहा कि यदि शीघ्र शिक्षक की तैनाती और भवनों का निर्माण नहीं किया गया तो ग्रामीण आंदोलन को बाध्य होंगे। इस अवसर पर रतन राम, ममता देवी, गण्श्राम, सुंदर प्रकाश, देवकी देवी, ललित प्रसाद, गीता जोशी, आशा देवी, लक्ष्मी देवी आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran