संवाद सहयोगी, धौलछीना (अल्मोड़ा): विकास खंड भैंसियाछाना के सेराघाट के पास स्थित पभ्यां गांव के एक युवक ने विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया। हालत बिगड़ने पर स्थानीय लोग उसे उपचार के लिए अस्पताल ला रहे थे, लेकिन उसने रास्ते में दम तोड़ दिया।

सेराघाट के पभ्यां गांव निवासी रमेश राम का चौबीस वर्षीय बेटा नवीन राम बेरोजगार था और घर पर रहता था। गुरुवार को वह किसी काम की बात कहकर सुबह के वक्त सेराघाट बाजार आ गया था। दोपहर बारह बजे तक नवीन राम बाजार में ही घूमता देखा गया, लेकिन कुछ देर बाद वह अपने घर गया और वहां जाकर जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया। हालत बिगड़ने के बाद परिजन और ग्रामीणों की मदद से उसे धौलछीना अस्पताल लाया गया। जहां चिकित्सक डॉ. विकास हल्धर और अन्य चिकित्सकों ने उसका परीक्षण किया। लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। बताया जा रहा है मृतक के पिता और बड़ा भाई मजदूरी करते थे और मृतक भी लंबे समय से बेरोजगार था। जिस कारण वह अक्सर डिप्रेशन में रहता था। अचानक हुए इस हादसे के बाद अब इस परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट गया है। परिजनों ने घटना के बाद शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया और शव को लेकर अपने घर लौट गए है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस