संवाद सहयोगी, चौखुटिया: पहली बार चौखुटिया में महर्षि वाल्मीकि जयंती महोत्सव की धमक। वाल्मीकि समाज समिति के तत्वावधान में महोत्सव का भव्य आयोजन किया गया। इस मौके पर विभिन्न मनमोहक झांकियों के साथ बाजार में भव्य शोभा यात्रा निकाली गई। इसमें कलाकारों की पंजाबी अखाड़ा नृत्य ने खुब समा-बांध दिया तथा समूचा बाजार महर्षि वाल्मीकि के जयकारों. से गूंज उठा। इससे पूर्व आयोजन स्थल पर भजन-कीर्तनों के मधुर स्वरों के बीच महर्षि को याद किया गया। बाद में भंडारे का आयोजन भी हुआ।

वाल्मीकि समाज समिति द्वारा यहां पहली बार वाल्मीकि महोत्सव समारोह पूर्वक मनाया गया। शनिवार सायं खिरचौरा धाम के पास संगेला लॉज परिसर में महर्षि वाल्मीकि के चित्र की पूरे श्रद्धाभाव से स्थापना की गई एवं उन्हें पुष्प अर्पित कर भावपूर्ण स्मरण किया गया। देर शाम तक भजन-कीर्तनों की समुमधुर रसधारा बहती रही। दूसरे सुबह हवन यज्ञ व भंडारा संपन्न हुआ। शाम को गाजे-बाजे व वाल्मीकि के जयकारों के साथ शोभा यात्रा निकाली गई। जो आयोजन से शुरू होकर पूरे बाजार में धूमी।

इस दौरान चांदपुर व बिजनौर के लोक कलाकारों की पंजाबी अखाड़ा नृत्य की मोहक प्रस्तुति ने लोगों की खूब वाहवाही लूटी। शोभा यात्रा में कई मनमोहक झांकियां भी शामिल रहे। बाद में धुधलिया गांव के पास महर्षि वाल्मीकि के फोटो की विधिवत स्थापना कर दी गई। कार्यक्रम को सफल बनाने में जगदीश चौधरी, राजें कुमार, हरकेश कुमार, हरबू लाल, प्यारे लाल, सुनील कुमार, मुकेश केमार, अशोक व छोटे लाल आदि ने सहयोग दिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप