संस, दन्या (अल्मोड़ा) : अल्मोड़ा-घाट-पिथौरागढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग पर दुश्वारिया कम होती नजर नहीं आ रही हैं। तीसरे दिन भी अल्मोड़ा व पिथौरागढ़ जिले की आवाजाही पूरी तरह ठप रही। घाट व पिथौरागढ़ के बीच लगातार भूस्खलन से एनएच बाधित है। इधर प्री मानसून में सामने आए नए क्रोनिक जोन ओखलगाड़ा में फिर भूस्खलन ने मुश्किल खड़ी कर दी है। अतिसंवेदनशील पहाड़ी के बार-बार दरकने से दन्यां व घाट के बीच हाईवे घटाभर फिर बाधित हो गया। लगातार मलबा गिरने से राहत कार्यो में बाधा भी पैदा हो रही है। उधर धौलादेवी ब्लॉक के काडानौला गांव में अतिवृष्टि से दोमंजिला मकान ध्वस्त हो गया। मकड़ाऊं गांव में भी कुछ घर खतरे की जद में आ गए हैं।

अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ हाईवे पर डेंजर जोन ओखलगाड़ा के पास गुरुवार की सुबह पहाड़ी फिर दरक गई। इससे सुबह छह से सात बजे तक मलबे ने आवाजाही बाधित कर दी। दिनभर रुक-रुक कर मलबा गिरता रहा। विभागीय ठेकेदार पूरन बिष्ट ने बताया कि लोडर मशीन लगाई गई है, मगर भूस्खलन नहीं रुक रहा। एनएच पर ही काडानौला के पास लगातार मलबा आ रहा है। मकड़ाऊं के सामाजिक कार्यकर्ता बिपिन पंत ने बताया कि घाट से आगे पिथौरागढ़ हाईवे पूरी तरह बंद हो गया है।

भरभरा कर गिरा गरीब महिला का मकान, बाल-बाल बचे

दन्या (अल्मोड़ा) : अल्मोड़ा घाट पिथौरागढ़ हाईवे पर काडानौला गांव में मसूलधार बारिश से गरीब महिला का दोमंजिला मकान ध्वस्त हो गया। स्व. नंदकिशोर की पत्नी शाति देवी बुधवार शाम प्रथम तल पर बने गोठ में खाना बना रही थी। इसी दौरान दूसरी मंजिल की छत धराशायी हो गई। शाति देवी व उसके दो छोटे बच्चे बाल-बाल बचे। राजस्व उप निरीक्षक शालू बिष्ट को सूचना दे दी गई है। उधर डेंजरजोन ओखलगाड़ा के पास मकड़ाऊं गाव निवासी हेमंत राम पुत्र रमीराम व जीवन सिंह पुत्र उदय सिंह के आगन व सुरक्षा दीवार ध्वस्त होने से घर खतरे की जद में आ गए हैं। राजस्व टीम ने स्थलीय निरीक्षण कर क्षति की रिपोर्ट तहसील प्रशासन को भेज दी है।

Edited By: Jagran