संवाद सहयोगी, रानीखेत : श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर पर्यटन नगरी कृष्णमय हो उठी। शिव मंदिर में कृष्णजन्मोत्सव की पूर्व संध्या पर आस्था उमड़ी तो झूला देवी एवं राम मंदिर में महोत्सव पर मेला लगा। इसमें नगर के साथ ही दूर दराज से ग्रामीण पहुंचे।

============

कोसी घाटी में राधा कृष्ण बने नन्हे मुन्ने

संस, गरमपानी : सरस्वती शिशु मंदिर के नन्हे मुन्ने कृष्ण एवं राधा का वेश धर कोसी घाटी में उतरे तो माहौल कृष्णमय हो उठा। लोगों ने जगह जगह 'जय श्री कृष्णा' का उद्भघोष कर बच्चों का अभिनंदन किया।

अंतरजनपदीय सीमा पर सरस्वती शिशु मंदिर खैरना के नौनिहालों ने खैरना से गरमपानी बाजार तक कृष्ण राधा की वेशभूषा में सज धज कर झाकी निकाली। नन्हे-मुन्नों के इस रूप ने सभी का मन मोह लिया। बाजार क्षेत्र से झाकी वापस विद्यालय पहुंची। जहा विभिन्न सास्कृतिक कार्यक्रम हुए। प्रधानाचार्य तुलसी प्रसाद भट्ट ने कृष्ण व राधा बनो प्रतियोगिता के विजेता बच्चों को पुरस्कृत किया।

==========

गगास घाटी में भी मची धूम

द्वाराहाट : कृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव पिडेश्वर महादेव मंदिर गगास में धूमधाम से मनाया गया। मंदिर समिति गगास मनेला के तत्वाधान में प्राथमिक, जूनियर वर्ग में सामान्य ज्ञान व चित्रकला प्रतियोगिता हुई। प्रतियोगिता में आस-पास के गावों के करीब 95 बच्चों ने हिस्सा लिया। विजयी प्रतिभागियों को पुरस्कार बाटे गए। इस दौरान कैलाश जोशी, नवीन जोशी, त्रिलोक सिंह अधिकारी, प्रकाश शर्मा, शेखर डौरबी, रमेश डौरबी, प्रेम कार्की, प्रकाश कार्की, भुवन मैनाली, हरीश डौरबी भोपाल अधिकारी आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran