संवाद सहयोगी, रानीखेत : तहसील के राजस्व क्षेत्रों में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। आलम यह है कि चोर गिरोह संसाधनविहीन राजस्व पुलिस की बेबसी का पूरा फायदा उठा रहे। वहीं ग्रामीण अब खुद को असुरक्षित महसूस करने लगे हैं। एक के बाद एक कई ताबड़तोड़ वारदात से हलकान ताड़ीखेत विकासखंड का अब मंगचौड़ा गाव चोर गिरोह का निशाना बना है। यहा बंद पड़े पाच घरों के ताले तोड़ जेवरात समेत लाखों का माल उड़ा लिया गया।

विकासखंड के कलौना, एरोड़, बनोलिया व सुखोली आदि क्षेत्रों में बीते दिनों हुई वारदात में शामिल बदमाशों की धरपकड़ तो दूर सुराग तक नहीं लग सका है। अब चोरों ने गगास घाटी से लगे मंगचौडा़ गाव में बंद घरों के ताले तोड़ राजस्व पुलिस को एक बार फिर खुली चुनौती दे डाली है। बीती रात चोरों ने जयमाल सिंह के बंद पड़े घर का ताला तोड़ नथ, मागटीका, मंगलसूत्र तथा जीवन सिंह, खीम सिंह, चतुर सिंह व खुशहाल सिंह के मकान से कपड़े व अन्य सामान उड़ा दिया। जयमल सिंह खनिया, जीवन सिंह गनियाद्योली, खीम सिंह रानीखेत तथा चतुर सिंह हल्द्वानी में रहते है। वहीं खुशाल सिंह गाव के मकान में ही दोमंजिले में सोए थे। सुरक्षित समझे जाने वाले गाव में वारदात से ग्रामीण सकते में हैं।

===========

ग्रामीणों में गुस्सा, बोले- सड़क पर उतरेंगे

ग्रामीणों ने प्रशासन से वारदात के शीघ्र खुलासे की माग उठाई है। दो टूक चेतावनी दी है कि यदि चोर गिरोह को जल्द न पकड़ा गया तो लोग मजबूरन सड़क पर उतरेंगे।

=============

्'तहरीर मिल चुकी है। जाच शुरु कर दी गई है। शुरुआती जाच में किसी एक ही गिरोह का हाथ होने की बात सामने आ रही है। राजस्व उपनिरीक्षकों को तत्काल घटना के खुलासे के निर्देश दिए गए है।

- हिमाशु खुराना, संयुक्त मजिस्ट्रेट'

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप