संवाद सहयोगी, चौखुटिया : मासी पुलिस चौकी अंतर्गत पटलगांव के कैनीखोला गांव में स्कूली छात्र ने घर के अंदर छत्त पर लगी लकड़ी की बल्ली से लटक कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। सूचना पर चौकी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में ले लिया तथा पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए रानीखेत भेज दिया है। विकास खंड में तीन दिन के अंतराल में आत्महत्या का यह दूसरा मामला है। इससे परिजन ही नहीं ग्रामीण भी बेहद दु:खी हो उठे हैं।

वाकया रविवार दोपहर 12 बजे के आसपास का है। ग्राम पंचायत पटलगांव के तोक गांव कैनीखोला निवासी राम सिंह का बेटा मनमोहन उर्फ विक्की-12 वर्ष जो राजकीय इंटर कॉलेज पटलगांव में कक्षा 9 में पढ़ता था। माता- पिता के काम पर चले जाने से वह घर में अकेला था। जब कुछ देर बाद मां घर पहुंची तो कमरे के अंदर बेटे को दुपट्टे के फंदे पर लटका देख मां के होश पख्ते हो गए। उसने आनन- फानन में गले का फंदा काटा, लेकिन तब तक मनमोहन दम तो़ड़ चुका था। इसके साथ ही परिवार में कोहराम मच गया तथा गांव में भी शोक की लहर दौड़ गई।

सूचना पर थानाध्यक्ष रमेश बोहरा व मासी चौकी इंचार्ज भूपाल राम ने मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया तथा परिजनों से पूछताछ की, लेकिन आत्महत्या के बारे में कोई तथ्य सामने नहीं आ पाए। एक मासूम बच्चे द्वारा इस तरह आत्महत्या कर लेने से सभी दहल उठे हैं। शाम को पुलिस ने पंचायतनामा भरने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए रानीखेत भेज दिया है।

----------------------

तीन दिन के भीतर आत्महत्या की दूसरी घटना

बच्चों में छोटी सी बात पर आत्महत्या करने की घटनाएं बढ़ रही हैं। तीन दिन के अंतराल में आत्महत्या की यह दूसरी घटना है। इससे पूर्व 7 सितंबर को चौखुटिया गनाई बाजार में एक 16 साल के छात्र ने पंखे पर लटक कर जान दे दी थी। उसने सुसाइट नोट में दो छात्रों व अन्य को ्रइसके लिए जिम्मेदार ठहराया था, मामला दर्ज न होने से अभी तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है। इससे एक माह पूर्व परीक्षा में फेल हो जाने से एक छात्रा ने जहरीला पदार्थ का सेवन कर लिया था, जिसकी बाद में मौत हो गई।

Posted By: Jagran