संवाद सहयोगी, मानिला (रानीखेत): अरसे से अधर में लटकी डंगूला चमकना रोड के लिए दूसरे दिन भी तहसील मुख्यालय में हंगामा रहा। धरना प्रदर्शन के बीच गुस्साए ग्रामीणों को मनाने पहुंचे विभागीय अधिकारियों को आंदोलनकारियों ने खरीखोटी सुना बैरंग लौटा दिया। दो टूक कहा कि जब तक क्षेत्र में सड़क व पुल का निर्माण शुरू नहीं करा दिया जाता, आंदोलन खत्म नहीं किया जाएगा।

बताते चलें कि बीते रोज सल्ट ब्लॉक स्थित तमाम गांवों के बाशिंदे जुलूस लेकर तहसील मुख्यालय जा धमके थे। उन्होंने कार्यालय का घेराव कर बेमियादी धरना शुरू कर दिया था। इधर रविवार को भी डंगोला चमकना रोड के विस्तारीकरण व डामरीकरण समेत पांच लंबित मुद्दों को लेकर क्षेत्रीय विकास समिति के बैनर तले चमकना, मनहैत, डंगूला, तराड़ आदि के ग्रामीण धरने पर डटे रहे। सरकार व विभाग के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया।

=========

अधिकारियों का लौटाया बैरंग

तहसील मुख्यालय में धरना प्रदर्शन के बीच लोनिवि के अपर सहायक अभियंता नफीस अहमद एवं सहायक अभियंता सतनाम सिंह ग्रामीणों से वार्ता को आंदोलन स्थल पर पहुंचे। शीघ्र रोड निर्माण का आश्वासन दिया। पर ग्रामीण नहीं माने। उन्होंने खरीखोटी सुनाते हुए कहा कि जब तक काम शुरू नहीं हो जाता, आदोलन समाप्त नहीं किया जाएगा। धरने पर समिति अध्यक्ष प्रेम सिंह तडियाल, श्याम खर्कवाल, सोबन सिंह बोरा, रतन सिंह, किशन राम, प्रेम सिंह, हरबंस सिंह, विशन दत्त, हरीश, बालम, त्रिलोक, घनानंद, महेंद्र रावत, सुरेन्द्र पाल, चंदन राम आदि बैठे।

Posted By: Jagran