जागरण संवाददाता,अल्मोड़ा: सोमवार को कलक्ट्रेट में आयोजित होने वाले तहसील दिवस में एक भी फरियादी नहीं पहुंचा। जिसके बाद सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक एसडीएम व तहसीलदार सहित बीडीओ खाली बैठे रहे। फोन पर ही कुछ शिकायतें मिलने पर मौखिक तौर पर उनका निस्तारण किया गया। इस मामले में एसडीएम का कहना था कि तहसीलवार जनसमस्याओं का निस्तारण के लिए डीएम की अध्यक्षता में भी लगातार जनसुनवाई की जा रही है। इससे शिकायतों का बोझ कम हुआ है। लोगों को मौके पर ही न्याय मिल रहा है।

एसडीएम सदर विवेक राय ने बताया कि जनसमस्याओं के निस्तारण के लिए हर सोमवार को जहां तहसील दिवस का आयोजन किया जा रहा है। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में भी डीएम की तरफ से व वीडियो कान्फें¨सग के माध्यम से जनता की समस्याओं का निस्तारण लगातार जारी है। ऐसे में जिला मुख्यायलय में आने वाले फरियादियों की संख्या पर सीधा असर पड़ रहा है। लगातार यहां पर शिकायतों का बोझ कम हुआ है। यह एक अच्छी बात है कि स्थानीय स्तर पर छोटी-छोटी समस्याओं का निस्तारण प्रशासनिक व पुलिस विभाग के आपसी समन्वय के बाद संभव हो सका है। पूरी कोशिश की जाती है कि तय समय पर पीड़ित की शिकायत का निस्तारण करने के बाद इसकी जानकारी शासन को आनलाइन दी जाए। साथ ही पीड़ति को फोन पर भी समस्या के संबंध में फीडबैक दिया जाता है। लगातार जनसुनवाई के बाद यह स्थिति है कि पीड़ित को जिला मुख्यालय की तरफ न्याय की आस में भागना नहीं पड़ता है। एसडीएम सदर ने कहा कि सभी विभागीय व राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वह तहसील दिवस में पूर्व की शिकायतों का निस्तारण समय के अंदर कराकर रिपोर्ट दें।

Posted By: Jagran