संवाद सहयोगी, द्वाराहाट : पं. मदनमोहन उपाध्याय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में कार्यशाला के जरिये विद्यार्थियों को नशे के प्रति जागरूक किया गया। प्रतिबंधित दवाओं के दुष्प्रभाव पर प्रकाश डालते हुए सोशल मीडिया से जुड़े फेसबुक व व्हाट्सएप के दुरूपयोग से बचने पर खास जोर देते हुए साइबर अपराध पर नियंत्रण को बने कानून व एक्ट की जानकारी दी गई।

महाविद्यालय सभागार में कॅरियर काउंसिलिंग प्रकोष्ठ के तत्वावधान में शुक्रवार को हुई कार्यशाला में वक्ताओं ने नशे की लत पर चिंता व्यक्त की। कहा कि क्षणिक मनोरंजन अथवा आवेश के कारण युवा आशा के अनुरूप आगे नहीं बढ़ पाता। प्रतिबंधित औषधियों के सेवन को भी जीवन के लिए बहुत नुकसानदेह बताते हुए वक्ताओं ने कहा कि ये औषधिया उच्च रक्तचाप, पक्षाघात जैसी गंभीर बीमारियों को न्यौता देती हैं। मौके पर साइबर अपराध की जानकारी देते हुए फेसबुक, व्हाट्सऐप जैसी साइटों के दुरुपयोग पर कड़ी सजा का प्रावधान है। प्रभारी थाना प्रभारी अशोक कुमार, डॉ. प्रेम प्रकाश, एसआई बृजमोहन भट्ट आदि ने संबोधित किया। प्राचार्य डॉ. भरत जी उपाध्याय ने छात्रों से कार्यशाला के दौरान बताई बातों और अमल करने को कहा। संचालन कार्यक्रम संयोजक डॉ. शैलेंद्र कुमार ने किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस