संवाद सहयोगी, मानिला (रानीखेत) : उप शिक्षा अधिकारी गीतिका जोशी ने रूपातरण अभियान चलाकर प्राथमिक विद्यालय खुमाड़ की तस्वीर बदल दी है। आधुनिक संसाधनों से सुसज्जित कर इसे निजी विद्यालयों की श्रेणी में खड़ा कर दिया गया है। विधायक सुरेंद्र जीना ने भी इस कार्य से अभिभूत होकर अन्य विद्यालयों के कायाकल्प के प्रयास करने को कहा।

शिक्षकों तथा अभिभावकों के सहयोग से उप शिक्षा अधिकारी गीतिका जोशी ने प्राथमिक विद्यालय खुमाड़ को निजी विद्यालयों की तर्ज पर सभी सुविधाओं से लैस कर दिया है। विद्यालय में इंटरनेट, टीवी, पुस्तकालय कक्ष, मध्यान्ह भोजन कक्ष व कार्यालय का निर्माण कर विद्यालय की तस्वीर ही बदल डाली है। गुरुवार को क्षेत्रीय विधायक सुरेन्द्र सिंह जीना ने वहा पहुंच इस रूपातरित विद्यालय का शुभारंभ किया। विद्यालय में निजी विद्यालयों जैसी सारी सुविधाएं देख विधायक ने उप शिक्षा अधिकारी के प्रयासों की सराहना की। कहा शिक्षकों के परिश्रम से सभी विद्यालयों को इसी प्रकार विकसित किया जाए तो गरीब तथा सुदूर गावों के छात्र भी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा पा सकेंगे। साथ ही ग्रामीणों का सरकारी विद्यालयों के प्रति नजरिया भी बदलेगा। उन्होंने शिक्षा के उन्नयन के लिए हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। उपशिक्षा अधिकारी गीतिका जोशी ने बताया कि रूपातरण अभियान के लिए किसी प्रकार की कोई सरकारी धनराशि उपलब्ध नहीं है। सहयोग इसी तरह मिले तो अगले विद्यालय के रूप में प्राथमिक विद्यालय पेसिया को विकसित किया जाएगा। मौके पर विद्यालय के प्रधानाध्यापक जयपाल असनौड़ा, बीआरसी दिनेश शर्मा, सासद प्रतिनिधि महेश्वर मेहरा, नरेंद्र भंडारी आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran