संवाद सहयोगी, रानीखेत : 'आज ब्रज में खेलो रे होरी..'। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी शोभायात्रा में लगा मानो पूरा वृंदावन पर्यटन नगरी में उतर आया। कन्हैया का बालपन, राधा के साथ सुर लय ताल मिलाकर नृत्य। सभी कुछ भावविभोर कर गया। वहीं शोभायात्रा में शामिल नगर भर के दस से ज्यादा क्लबों की झांकियों ने भी मंत्रमुग्ध किया। इनमें बालसखा सुदामा से कृष्ण का मिलन, शिव का तांडव, शिव पार्वती तथा राधा कृष्ण का नृत्य आकर्षण रहा।

श्री पंचेश्वर महादेव स्थित शिव मंदिर से शुक्रवार सायं श्री कृष्ण एवं राधा के डोले की शोभायात्रा निकाली गई। जो केमू स्टेशन, सुभाष व गांधी चौक से सदर बाजार होती हुई विजय चौक से पुन: शिव मंदिर प्रांगण पहुंची। सबसे आगे विवेकानंद विद्या मंदिर का बैंड दल मोहक धुन बजाता चल रहा था। जगह जगह शोभायात्रा का पुष्प वर्षा से स्वागत किया गया। इसमें विभिन्न क्लबों की झांकियों ने मन मोह लिया। शिव पार्वती नृत्य व कृष्ण सुदामा संवाद खास आकर्षण के केंद्र रहे।

ताड़ीखेत : यहां भी भगवान श्रीकृष्ण डोले की शोभायात्रा निकाली गई। इसमें स्थानीय लोगों के साथ विभिन्न विद्यालयों के बच्चों ने बढ़ चढ़कर भागीदारी की।

द्वाराहाट : मजखाली स्थित श्री राधा कृष्ण मंदिर में कृष्ण जन्मोत्सव मेले में विविध सांस्कृतिक कार्यक्रकी धूम रही। आसपास के गांवों से पहुंचे लोगों ने मेले में लगी दुकानों से खरीदारी की। मंदिर में देर शाम तक भजन कीर्तनों का दौर चल रहा है।

Posted By: Jagran