जेएनएन, अल्मोड़ा/ पनुवानौला : जिले के जागेश्वर क्षेत्र में भी इन दिनों गुलदार के आतंक से दहशत का माहौल है। गुलदार अब तक ग्रामीणों के कई मवेशियों को अपना शिकार बना चुका है, लेकिन वन महकमा ग्रामीणों को गुलदार के आतंक से निजात दिलाने में नाकाम साबित हो रहा है। जिस कारण अब ग्रामीणों का इधर उधर जाना दूभर हो गया है।

जागेश्वर रेंज के पनुवानौला, बानठौक और नौला गांवों में पिछले कई दिनों से गुलदार का आतंक बना हुआ है। गुलदार ने अब तक इन गांवों के रमेश चंद्र, हरीश चंद्र और भास्कर पांडे के कई मवेशियों को अपना शिकार बना लिया है। ग्रामीणों ने बताया कि कुछ दिनों से गुलदार दिन दहाड़े आबादी वाले इलाकों में दिखाई दे रहा है। ग्रामीण भास्कर पांडे ने बताया कि इन दिनों ग्रामीण क्षेत्रों में खेती बाड़ी का काम चल रहा है। ऐसे में गुलदार की धमक से लोग डर डर कर खेतों में काम कर रहे हैं। पांडे ने बताया कि इन गांवों के लोग शाम ढलते ही अपने अपने घरों में दुबक जा रहे हैं, लेकिन वन विभाग को इसकी जानकारी दिए जाने के बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। पांडे ने वन विभाग के अधिकारियों से गुलदार के आतंक से निजात दिलाने की मांग की है।

=======

डूंगरी में भी हत्थे नहीं चढ़ा गुलदार

अल्मोड़ा : पेटशाल से लगे डूंगरी गांव में एक सप्ताह बाद भी गुलदार हत्थे नहीं चढ़ सका है। वन विभाग ने गुलदार को पकड़ने के लिए यहां पिजड़ा लगाया। डीएफओ के निर्देश के बाद गुलदार की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए यहां कैमरे भी लगाए गए, लेकिन इसके बाद भी गुलदार घटनास्थल के पास नहीं फटका। वन विभाग के अधिकारियों ने अभी टीम को गांव में ही रोककर गुलदार की गतिविधियों पर नजर रखने के निर्देश दिए हैं। इधर गुलदार के न पकड़े जाने के कारण ग्रामीणों में दहशत बरकरार है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप