संवाद सहयोगी, द्वाराहाट: उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी (उपपा) ने राष्ट्रीय दलों पर पंचायतीराज व्यवस्था को भ्रष्टाचार व कमीशनखोरी का अड्डा बना देने का आरोप लगाया। पार्टी ने इन चुनावों में बच्चों तथा शैक्षिक योग्यता को भी संवैधानिक अधिकारों का हनन बता इसकी आलोचना की।

नगर के समीपवर्ती पूजाखेत में उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी की बैठक में केंद्रीय अध्यक्ष पीसी तिवारी ने कार्यकर्ताओं से पंचायती चुनावों में ईमानदार प्रतिनिधियों को चुनने का आह्वान किया। कहा कि केंद्र व राज्य सरकार ने संविधान के 73वें संशोधन के माध्यम से ग्राम सरकार, क्षेत्र सरकार व जिला सरकार चुनने के सपने को ही चकनाचूर कर दिया है। कमीशनखोरी व भ्रष्टाचार का माध्यम बनाकर पंचायतों को लोकतंत्र की बुनियाद के लिए खतरा बनाने की साजिश की गई है। पंचायत चुनाव में शिक्षा व बच्चों की शर्त को लोकसभा व विधानसभा में भी लागू करने की मांग की। संचालन प्रकाश जोशी ने किया। सीपी जोशी, दयाल राम, नंदन सिंह किरौला, पंकज कुमार, स्निग्धा तिवारी, भारती पाडे, महेश फुलारा, सुनील भट्ट, राकेश चौधरी आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस