संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : ऐतिहासिक, सांस्कृतिक व पर्यटक नगरी में इस बार नंदादेवी महोत्सव 14 सितंबर से भव्य तरीके से मनाया जाएगा। आठ दिनों तक चलने वाले इस महोत्सव में मां नंदा-सुनंदा की पूजा- अर्चना के साथ ही विविध प्रतियोगिताओं व सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम रहेगी। यह जानकारी नंदादेवी मंदिर व मेला समिति ने यहां नंदा गीता भवन में आयोजित पत्रकार वार्ता में दी।

मंदिर कमेटी के अध्यक्ष मनोज वर्मा ने बताया कि 14 सितंबर भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि से शुरू होने वाले महोत्सव की तैयारियां तेजी से चल रही हैं। 14 सितंबर को गणेश पूजन व नंदा जागर के साथ आठ दिवसीय महोत्सव का आगाज होगा। उन्होंने बताया कि इस बार मां नंदा-सुनंदा की प्रतिमाओं के निर्माण के लिए कदली वृक्षों को आमंत्रण 15 सितंबर को प्रकाश चंद्र करगेती के धार की तूनी स्थित आवासीय परिसर में दिया जाएगा। मुख्य संयोजक मनोज सनवाल ने बताया कि महोत्सव के दौरान 14 से 20 सितंबर तक बच्चों व महिलाओं के लिए विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। मुख्य सांस्कृतिक संयोजक तारा चंद्र जोशी ने बताया कि महोत्सव के तहत विविध स्कूलों के बच्चों के सांस्कृतिक जुलूस के बाद महिलाओं की ओर से भी पृथक दिवस में सांस्कृतिक जुलूस निकाला जाएगा। जोशी ने बताया कि 16 से 20 सितंबर तक मंच पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम रहेगी। जिसमें राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से पहुंचने वाले कलाकारों के साथ ही, स्थानीय कलाकार व स्कूली बच्चे अपने गायन व नृत्य की प्रस्तुति देंगे। महिला झोड़ा गायन भी विशेष आकर्षण का केंद्र रहेगा। पत्रकार वार्ता के दौरान नंदादेवी महोत्सव से संबंधित पोस्टर का भी विमोचन किया गया। इससे पूर्व इस आयोजन से जुड़ी सर्वदलीय महिलाओं की बैठक हुई। जिसमें महिलाओं को आयोजन के संबंध में अलग-अलग जिम्मेदारियां सौंपी गई। इस अवसर पर मेला कमेटी के सचिव सचिव एलके पंत, उपाध्यक्ष धन सिंह मेहता, अतुल अग्रवाल,अनूप साह, नरेंद्र वर्मा, किशन गुरूरानी, दिनेश गोयल, प्रीति बिष्ट, हरीश बिष्ट, जीवन नाथ वर्मा, अमरनाथ सिंह नेगी, राजेश पालनी, अर्जुन बिष्ट, राजकुमार बिष्ट समेत मेला कमेटी के अनेक सदस्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran