रानीखेत, [जेएनएन]: एसओजी ने पर्यटन की आड़ में बाहरी राज्यों से लगजरी कारें चोरी कर पहाड़ में काला कारोबार चलाने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का खुलासा किया है। यह कुमाऊं गढ़वाल के पर्वतीय जिलों में अब तक का सबसे बड़ा मामला है। पुलिस ने गिरोह के सरना गार्डन में खड़ी चार कार छह स्कूटी कब्जे में ले ली है। गैंग का मास्टर माइंड आरोपित का दिल्ली निवासी बहनोई है। देश की राजधानी के विभिन्न थाना क्षेत्रों में बाकायदा वाहन चोरियों के मुकदमे भी दर्ज हैं। 

दरअसल, पर्यटन नगरी रानीखेत में बीती रात एसओजी की टीमों ने जगह-जगह दबिश दी। इस दौरान एसओजी ने चार कारें व छह स्कूटी बरामद की हैं। मामला तब खुला जब दबिश को पहुंची एसओजी व पुलिस टीम ने संदेह पर अतिकुर्रहमान पुत्र रहमत अली निवासी सरना गार्डन, धोबी मोहल्ला के पास से आइटेन कार डीएल 8सीटी 5178 के सिलसिले में पूछताछ शुरू की। 

पुलिस के सख्ती से पूछताछ करने पर आरोपित टूट गया। उसने बताया कि उसके घर के बाहर चोरी की तीन कारें व छह स्कूटी खड़ी हैं, जिनका सौदा कर दिया गया है। हालांकि इन्हें खरीदारों के हवाले नहीं किया गया था। 

दिल्ली में बैठा बहनोई है सप्लायर 

पहाड़ में अंतरराज्यीय गिरोह चलाने वाले आरोपित अतिकुर्रहमान का कबीर नगर शाहदरा (दिल्ली) निवासी बहनोई ड्राई क्लीनर के साथ ही इस धंधे का मास्टर माइंड भी है। वही दिल्ली से गाड़ियां चोरी कर रामपुर (उत्तर प्रदेश) तक लाता था। वहां से अतिकुर्रहमान बड़ी सफाई से वाहनों को लेकर रानीखेत में सरना गार्डन में खड़ी कर देता था। एसएसपी पी. रेणुका देवी ने मंगलवार को कोतवाली पहुंच प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामले का पर्दाफाश किया। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड गठन के बाद पर्वतीय जिलों में यह ऑटो लिफ्टर गैंग का सबसे बड़ा खुलासा है। 

यह भी पढ़ें: घर का ताला तोड़ उड़ाए थे जेवर, ऐसे चढ़ा पुलिस के हत्थे

यह भी पढ़ें: चोरों ने पुलिस को भी नहीं छोड़ा, महिला कॉन्स्टेबल के घर के ताले तोड़े

यह भी पढ़ें: कोरियर कंपनी का शटर तोड़कर दस लाख रुपये चोरी 

Posted By: Raksha Panthari