संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : नगर के समीपवर्ती ग्राम पंचायतों को नगर पालिका में मिलाने के विरोध में दुगालखोला, रैलापाली के ग्रामीणों का आंदोलन सोमवार को भी जारी रहा। उन्होंने गांव बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले गांधी पार्क में धरना दिया। कहा गया कि यदि जल्द ग्रामीणों के हित में निर्णय नहीं लिया गया तो वह दिल्ली के जंतर-मंतर में धरना-प्रदर्शन को बाध्य होंगे।

ग्राम पंचायतों को उनकी इच्छा के विपरीत नगर पालिका में मिलाए जाने का विरोध सोमवार को भी जारी रहा। ग्राम पंचायत रैलापाली व दुगालखोला के विभिन्न तोकों के ग्रामीण यहां माल रोड स्थित गांधी पार्क में एकत्रित हुए। उन्होंने ग्रामीणों के हित में जल्द निर्णय लिए जाने की मांग पर गांधी पार्क में धरना दिया। वक्ताओं का कहना था कि ग्राम पंचायतों में निवास करने वाले सभी ग्रामीणों की स्थिति ऐसी नहीं है कि वह नगर पालिका की ओर से लिए जाने वाले सभी करों का भुगतान कर सकें। इसलिए ग्रामीणों के हितों पर पुनर्विचार किया जाना जरूरी है। कहा गया कि यदि उक्त अव्यवहारिक परिसीमन को जल्द निरस्त नहीं किया गया तो ग्रामीण जल्द दिल्ली के जंतर मंतर में धरना-प्रदर्शन को बाध्य होंगे। धरने के 17 वें रोज ग्राम प्रधान मीरा देवी, पार्वती जोशी, दुर्गा दुर्गापाल, विद्या दुर्गापाल, गीता बोरा, बचुली देवी, मीना गुरूंग, पार्वती गुरूंग, नीरू आर्या, तारा देवी, कमला देवी, महंत योगी सुंदरनाथ, घनश्याम गुरूरानी, महेश चंद्र, केपी जोशी, अंबी राम, भूपेंद्र सिंह लटवाल, रवींद्र नाथ गोस्वामी, शमशेर सिंह आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran