संवाद सहयोगी, द्वाराहाट: प्रवासी लोगों को गाव पहुंचने पर संस्थागत क्वारंटाइन करने की माग को लेकर प्रधान संगठन ने तहसील कार्यालय में धरना दिया। साथ ही तय विद्यालयों में शिक्षकों व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने की आवाज भी बुलंद की।

पूर्व निर्धारित घोषणा के अनुसार सोमवार को पंचायत प्रतिनिधि तहसील कार्यालय पहुंचे। ब्लॉक अध्यक्ष नरेंद्र अधिकारी के नेतृत्व में धरने पर बैठ गए। दो घटा धरने के बाद उप जिलाधिकारी आरके पाडे के माध्यम से जिलाधिकारी को ज्ञापन भेजा। जिसमें कहा गया कि गावों में बाहर से आए लोगों को होम क्वारंटाइन करवाना असंभव है क्योंकि ग्रामीण एक-दो कमरों के मकान में रहते हैं। जिनमें पूरा परिवार और मवेशी भी रहते हैं। ऐसे में क्वारंटाइन करना संभव नहीं है। माग उठाई कि विद्यालयों को सेंटर बना वहा शिक्षकों व कर्मचारियों को भी तैनात किया जाए। धरने पर अध्यक्ष नरेंद्र अधिकारी के अलावा छतीना के प्रधान सतीश उपाध्याय, गुप्टली की लीला मेहरा, रणा की देवकी देवी, मल्ली मिरई की रेखा देवी बैठे। बाकी को निषेधाज्ञा के कारण लौटा दिया गया।

=

संगठन की माग पर गौचर में लगा बैरियर धरने के बाद संगठन अध्यक्ष नरेंद्र अधिकारी प्रभारी निरीक्षक अजय साह से मिले। बाहर से आने वाले प्रवासियों की थर्मल स्क्त्रीनिंग के लिए गौचर चौराहे पर बैरियर लगाने की माग की। जिससे बाहर से आने वाले प्रवासियों की समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में थर्मल स्क्त्रीनिंग हो सके। संगठन की इस माग पर वहा पर बैरियर लगा दिया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस