संस, अल्मोड़ा/रानीखेत/द्वाराहाट : कोरोना की रफ्तार कुछ कम होने के बाद जिले में पहली से पाचवीं कक्षा तक के विद्यालय भी डेढ़ साल बाद शिक्षण कार्य के लिए खुल गए हैं। इससे जिले के प्राथमिक स्कूलों में भी रौनक लौट आई है। इससे पूर्व सभी विद्यालयों को सैनिटाइज कर दिया गया था। स्कूल पहुंचे छात्र-छात्राओं को सैनिटाइज करने के साथ ही थर्मल स्क्रीनिग करने के बाद ही कक्षा-कक्षों में प्रवेश दिया गया। वहीं कोरोना से बचाव को सुरक्षात्मक उपायों की जानकारी दी गई। पहले दिन 75.43 फीसद छात्र-छात्राएं स्कूल पहुंचे। वहीं रानीखेत उपमंडल के प्राथमिक स्कूलों में भी मंगलवार से रौनक लौट आई है। पिछले साल 12 मार्च, 2020 से बंद हुए स्कूलों में मंगलवार को कई महीनों बाद बच्चे नई उमंग के साथ मास्क लगा शारीरिक दूरी का पालन कर स्कूल पहुंचे। शिक्षकों ने विद्याíथयों को कोरोना संक्रमण से बचाव के तौर तरीके बताए। इधर, जिला शिक्षा अधिकारी चंदन सिंह बिष्ट ने बताया कि 1271 प्राथमिक स्कूलों में एक से पांचवीं तक कुल 22, 347 विद्यार्थी पंजीकृत हैं। जिसमें से मंगलवार को 16, 857 विद्यार्थी स्कूल पहुंचे। उन्होंने सभी शिक्षकों से शिक्षण के दौरान गाइडलाइन का अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

द्वाराहाट : विकासखंड के 106 प्राथमिक विद्यालय मंगलवार से खुल गए। हालांकि विद्यालयों में शतप्रतिशत उपस्थिति नहीं रही। बीईओ डीएल आर्या ने बताया कि सभी विद्यालयों को सैनिटाइज किया था। मंगलवार को सभी उपस्थित बच्चों की थर्मल स्कैनिग कर हाथों को भी सैनिटाइज किया गया। लंबे समय से विद्यालयों से दूर रहे बच्चों के सीखने की क्षमता में आई कमी को दूर करने के लिए कई तरह की तैयारियां की गई हैं।

Edited By: Jagran