संस, चौखुटिया: राजकीय सेवानिवृत्त पेंशनर्स संगठन ब्लॉक इकाई की सोमवार को संगेला टूरिस्ट लॉज में हुई बैठक में पेंशनरों की विभिन्न ज्वलंत समस्याओं पर चर्चा की गई। इस दौरान गोल्डन स्वास्थ्य कार्ड के नाम पर उनके पेंशन अकाउंट से की जा रही कटौती पर रोष व्यक्त किया गया। सभी ने कटौती बंद कर काटी गई धनराशि ब्याज समेत वापस लौटाने की मांग की।

बैठक में कहा गया कि पेंशनर्स वरिष्ठ नागरिक हैं, इसलिए उन्हें निश्शुल्क ओपीडी की सुविधा दी जानी चाहिए। स्वास्थ्य कार्ड के नाम पर कटौती बंद किए जाने को लेकर भिकियासैंण में चलाए जा रहे आंदोलन के प्रति पूर्ण समर्थन व्यक्त किया गया। कहा गया कि मांग नहीं मानी गई तो चौखुटिया संगठन भी आंदोलन में कूदेगा। अंत में ब्लाक इकाई के अध्यक्ष जोगानंद तिवारी द्वारा इस्तीफा दिए जाने से खाली पद पर अगले चुनाव तक लीलाधर मठपाल को अध्यक्ष चुना गया।

इससे पूर्व संगठन का पूर्व वर्षभर का लेखाजोखा भी पेश किया गया। अध्यक्षता जोगानंद तिवारी व संचालन लीलाधर मठपाल ने किया। इस अवसर पर बिशन सिंह, गणेश चंद्र फुलोरिया, भगवत बिष्ट, राम बहादुर, मोहन सिंह किरौला, खुशाल अटवाल, पदम सिंह, हरी राम, प्रकाश उपाध्याय, दान सिंह, राजेंद्र सिंह, नारायण सिंह, तारा दत्त, शेर सिंह, राधाबल्लभ, बचे सिंह व कैलाश चंद्र आदि मौजूद रहे।

भिकियासैंण: गवर्नमेंट पेंशनर्स वेलफेयर आर्गनाइजेशन का तहसील परिसर में चलाया जा रहा आंदोलन जारी है। सोमवार को 27 वें दिन भी पेंशनर्स धरने में बैठे। इस दौरान उन्होंने सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर आक्रोश व्यक्त किया। कहा कि सरकार की ओर से उनकी मांगों पर कोई पहल नहीं की जा रही है। ऐसे में पेंशनर्स सरकार के रवैये से खिन्न हैं। उन्होंने जल्द ही आंदोलन को पूरे प्रदेश में शुरू करने की भी चेतावनी दी।

संगठन अध्यक्ष तुला सिंह तजिडयाल ने आंदोलन को लेकर कर्मचारी संगठनों से भी वार्ता चल रही है। इस दौरान पूर्व जिला विद्यालय निरीक्षक डीएस नेगी, पूर्व प्रधानाचार्य गोपाल दत्त भट्ट, गंगा दत्त जोशी, सोबन सिंह मावड़ी, गोपाल सिंह नेगी, बालम सिंह बिष्ट, मदन नेगी, चंद्र सिंह रौतेला, लीला धर जोशी, गोपाल भगत, दान सिंह बिष्ट, रमेश चंद्र बिष्ट, भीम सिंह, बचे सिंह, बिशन दत्त आदि ने विचार रखे।

Edited By: Jagran