संवाद सहयोगी, चौखुटिया: चौखुटिया एवं आसपास के इलाकों में संगठित गिरोह बनाकर अवैध चरस व गांजे की तस्करी करने वालों के खिलाफ थाना पुलिस ने कड़ा रूप अपना लिया है। इस क्रम में चार आरोपितों पर बड़ी कार्रवाई की गई है। जिन्हें गैंगस्टर एक्ट में निरुद्ध कर दिया गया है। जो वर्तमान में अवैध गांजा तस्करी के मामले में जिला कारागार अल्मोड़ा में बंद हैं। इधर अवैध रूप से अर्जित की गई संपत्ति का पता लागाकर जल्द ही जब्तीकरण की कार्रवाई भी की जा रही है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अल्मोड़ा के निर्देश पर एसओ राजेंद्र सिंह बिष्ट ने एनडीपीएस एक्ट में संलिप्त गणेश सिंह अधिकारी पुत्र धन सिंह निवासी उदयपुरी बंदोबस्ती, रामनगर-नैनीताल, मनोज पुत्र हुकुम सिंह उदयपुरी बंदोबस्ती, रामनगर-नैनीताल, अंकित कुमार पुत्र महावीर हल्ला नगला-बिजनौर, चांदपूर उप्र एवं धर्मवीर सिंह पुत्र मंगू सिंह, निवासी हल्ला नगला, बिजनौर, इस्माईलपुर उप्र के विरूद्ध थाना चौखुटिया में धारा 2-3 गैंगस्टर अधिनियम में अभियोग पंजीकृत कर दिया है। एसओ ने बताया कि इस गैंग की गतिविधिों पर प्रभावी अंकुश लगाने को लेकर इन्हें गैंगस्टर एक्ट में निरूद्ध किया गया है।

चारों आरोपित चौखुटिया एवं आसपास के क्षेत्रों में संगठित गिरोह बनाकर अवैध रूप से चरस व गांजे की तस्करी कर धन अर्जित करने में लगे थे। गैंग के विरूद्ध थाना चौखुटिया में 51.348 किलोग्राम अवैध गांजा तस्करी करने का अभियोग पंजीकृत है। जो जेल में बंद हैं। उन्होंने यह भी बताया कि इनके द्वारा अर्जित की गई संपत्ति का भी ब्यौरा जुटाया जा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस