ताडी़खेत(रानीखेत): ब्लाक के सुदूर मोवड़ी गाव के जंगल में मृत अवस्था में मिली मादा गुलदार की मौत आपसी संघर्ष के दौरान सिर पर चोट लगने से हुई थी। रेंज कार्यालय गनियाद्योली में पोस्टमार्टम के बाद चिकित्सकों की टीम ने मौत का कारण स्पष्ट कर दिया।

बीते शनिवार को ब्लाक के मोवडी़ गाव से करीब एक किमी दूर घास काटने गई महिलाओ ने गुलदार का शव पड़ा देखा था। सूचना पर पहुंचे विभाग के वन दरोगा कुशल सिंह कैड़ा, भवानी प्रसाद, जगदीश सिंह ने मौका मुआयना कर गुलदार का शव कब्जे में ले रेंज कार्यालय गनियाद्योली पहुंचाया। रविवार को पशु चिकित्सक डॉ.जयपाल करगेती व डॉ. राहुल सती ने मादा गुलदार के पोस्टमार्टम किया। चिकित्सकों के अनुसार मादा गुलदार की मौत आपसी संघर्ष के दौरान सिर पर चोट लगने से हुई है। साफ किया कि मादा गुलदार की उम्र महज डेढ़ वर्ष व ऊंचाई 55 तथा लंबाई 170 सेंटीमीटर है।शव करीब 48 घटे पुराना है। बाद में रेंजर उमेश पाडे की देखरेख में विभागीय नियमानुसार मादा गुलदार के शव की अंत्येष्टि कर दी गई।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस