संवाद सहयोगी, मानिला (रानीखेत) : कुमाऊं की

बारदोली यानी सल्ट ब्लॉक के खुमाण में शहीद दिवस पर आजादी के दीवानों को नमन् किया गया। वक्ताओं ने शहीदों के सपनों को साकार करने का आह्वान किया।

5 सितंबर 1942 को खुमाण की क्त्राति में शहीद हुए खीमानंद काडपाल, गंगाराम, चूड़ामणि व बहादुर सिंह को श्रद्धाजलि देने के लिए पेयजल मंत्री प्रकाश पंत शहीद स्थल पहुंचे। कहा कि आजादी के समय सल्ट का योगदान अविस्मरणीय है। इसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने शहीदों के बताए मार्ग पर चलने का आह्वान किया। विधायक सुरेंद्र जीना ने कहा, शहीदों के सपनों को साकार करना होगा। इस दौरान जिला मंत्री प्रताप रावत, जिपं सदस्य हंसा नेगी, महेश्वर मेहरा, दिनेश मेहरा, दीपक शर्मा, चंदन सिंह, विक्त्रम बिष्ट व राधा धौलखंडी आदि मौजूद रहे।

===============

श्रद्धांजलि देने कांग्रेसी भी जुटे

शहीदों को नमन करने के लिए काग्रेस के नेता भी खुमाड़ में जुटे। जमावड़ा लगा। सभा में राच्यसभा सासद प्रदीप टम्टा ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा व विकास को एकजुट होना होगा। यही शहीदों को सच्ची श्रद्धाजलि होगी। उपनेता एवं विधायक रानीखेत करन माहरा ने कहा कि महात्मा गाधी के हत्यारों की जय जयकार करने वालों की केंद्र में सरकार है। इससे देश को खतरा है। पूर्व विधायक रणजीत रावत ने कहा कि हम ऐसे क्षेत्र में जन्मे हैं जहा चार लोगों ने बलिदान दिया। उनकी बदौलत हम खुली हवा में सास ले रहे हैं। सभा में वरिष्ठ काग्रेसी गंगा पंचोली, पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण, ब्लॉक प्रमुख मुन्नी आर्या, पूर्व जिपं अध्यक्ष मोहन सिंह मेहरा, कुंदन बिष्ट आदि मौजूद रहे।

================

डीएम ने भी किया नमन

जिलाधिकारी नितिन भदौरिया ने भी शहीदों को नमन कर श्रद्धांजलि दी। कहा कि क्षेत्र की समस्याओं के समाधान को प्रत्येक माह शिविर लगाया जाएगा। इस दौरान एसडीएम गौरव चटवाल, तहसीलदार प्रताप राम, थानाध्यक्ष हरीश प्रसाद आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran