संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : धर्म निरपेक्ष युवा मंच ने गांव चलो अभियान के तहत हवालबाग व भैसियाछाना ब्लॉकों के गांवों का भ्रमण कर ग्रामीणों की समस्याएं जानी। इस मौके पर ग्रामीणों का कहना था कि ग्रामीण क्षेत्रों से पलायन रोकने के लिए यहां जरूरी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करायी जानी जरूरी है।

ग्राम धामस के दौरान भ्रमण में ग्रामीणों ने मंच के पदाधिकारियों तथा सदस्यों से कहा कि वह पारंपरिक खेती से कलस्टर खेती की ओर जाना चाहते हैं, चूंकि ग्रामीणों को लगता है कि पारंपरिक खेती से आज के दौर में जीवन यापन करना अत्यंत कठिन हो गया है। क्षेत्र पंचायत सदस्य आनंद सिंह बिष्ट ने कहा कि उनके गांव को सहकारी दुग्ध संघ से जोड़ा जाए ताकि दुग्ध व दुग्ध पदार्थो से ग्रामीणों की आय में वृद्धि हो सके। वहीं विकास खंड भैसियाछाना के ग्राम छानी के ग्रामीणों ने साल भर खेती के लिए सिंचाई की पुख्ता व्यवस्था किए जाने पर जोर दिया। बंदरों तथा सुअरों के आतंक से निजात दिलाए जाने पर भी जोर दिया गया। साथ ही खेतों से पानी की निकासी के लिए कारगर उपाय किए जाने की भी बात कही। इसके लिए चेक डैम की जरूरत की भी बात कही गई। इसके अलावा काश्तकारों को कृषि की नवीनतम तकनीक का प्रशिक्षण दिए जाने की भी मांग उठाई। तय किया गया कि मंच का एक शिष्टमंडल जल्द ही ग्रामीणों की आर्थिक संभावनाओं व समस्याओं को लेकर जल्द ही प्रशासन से वार्ता करेगा। इस मौके पर मंच के संयोजक विनय किरौला, जिला पंचायत सदस्य विशन सिंह बिष्ट, आनंद सिंह बिष्ट, दीवान सिंह, देवेंद्र भोजक, ललित मोहन पंत, महादेवी सुप्याल, लक्ष्मण सिंह, जगदीश सिंह, हरीश भट्ट, निरंजन पांडे, अमित चौधरी, कमल जोशी, नवीन पांडे, दीप पांडे, दीपक दानी, रमा सुप्याल, नंदी देवी, देवेंद्र सुप्याल आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran