संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : राष्ट्रीय दृष्टिहीन संघ की उपशाखा की मासिक बैठक में नगर में लगातार बढ़ रहे ध्वनि प्रदूषण पर गंभीर चिंता प्रकट की गई। पुलिस विभाग से ध्वनि प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए कारगर उपाय किए जाने पर जोर दिया गया।

उपशाखा की यहां लिंक रोड स्थित कार्यालय सभागार में हुई बैठक में कहा कि निर्धारित डेसीबल से अधिक की तीव्रता पर वाले लाउडस्पीकर बजाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इस मौके पर एसएसपी से मांग की गई कि इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराया जाए। जिससे विद्यार्थियों, वृद्धों, बीमारों तथा दिव्यांगों को राहत मिल सके। वक्ताओं का कहना था कि नगर के जिन चौराहों में जेब्रा क्रॉसिंग नहीं बनाए गए है वहां पर जल्द जेब्रा क्रॉसिंग बनाई जाने को कार्रवाई की जाए। नगर के विभिन्न मार्गो में बेतरतीब ढंग से बिछाई गई पेयजल लाइनों को व्यवस्थित किए जाने की मांग भी की गई। कहा कि अव्यवस्थित तरीके से बिछाई गई पेयजल लाइनों से दिव्यांगों को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उपशाखा के महासचिव डीके जोशी ने बताया कि इन दिनों कार्यालय में उपशाखा के आजीवन सदस्यों की सूची बनाई जा रही है। उन्होंने सभी आजीवन सदस्यों से कहा है कि वह अपना पूर्ण विवरण संघ के उपशाखा कार्यालय में जल्द से जल्द प्रस्तुत करें। पूर्व स्वास्थ्य निदेशक डॉ. जेसी दुर्गापाल ने लोगों से नेत्रदान के लिए आगे आने का आह्वान किया। बैठक में जीसी जोशी, श्याम नारायण, रश्मि डसीला, चंद्रमणी भट्ट, स्वाति तिवारी व महेंद्र सिंह अधिकारी ने विचार रखे।

Posted By: Jagran