जागरण संवाददाता, अल्मोड़ा : एसएसजे परिसर में छात्रसंघ चुनाव कार्यक्रम के तहत मतदान के ठीक एक दिन पहले आयोजित छात्रों की आम सभा में अध्यक्ष पद के तीनों प्रत्याशियों एबीवीपी के राजनचंद्र जोशी, बहुजन वालेंटियर फोर्स के रोहित कुमार टम्टा व एनएसयूआइ सर्मिथत प्रत्याशी संदीप ¨सह तड़ागी ने छात्रों को संबोधित किया, जिसमें कहा कि उनका वादा है कि परिसर में बेहतर शैक्षणिक माहौल व जात-पात से परे उठकर माहौल बनाने की जिम्मेदारी उनकी है। जिसमें सभी छात्रों व कालेज प्रशासन का सहयोग मांगकर अधिक से अधिक मतों से जिताने की अपील छात्र-छात्राओं से की। वंदे मातरम के गगनभेदी नारों के बीच प्रत्याशियों ने एक-दूसरे के उपर जमकर कटाक्ष किया और बेहतर माहौल बनाने में सहयोग की अपील की।

वरीयता के क्रम में सबसे पहले छात्रों की आमसभा को संबोधित करने पहुंचे एबीवीपी के समर्थित अध्यक्ष पद के प्रत्याशी राजनचंद्र जोशी ने विवेकानंद के विचारों को जीवन में जहां अपनाने पर बल दिया। वहीं बेहतर शैक्षणिक माहौल बनाने में सभी का छात्र-छात्राओं का सहयोग मांगा। उनका कहना था कि जो कॉलेज में समस्याएं हैं उनका निस्तारण एबीवीपी के सिद्धांतों पर चलकर ही पूरा किया जा सकता है। अराजकता व जात-पात की राजनीति से हम सभी को ऊपर उठना होगा। तभी बेहतर शिक्षा हम ले सकेंगे। दूसरे नंबर पर अपना संबोधन देते हुए बहुजन वॉलेंटियर फोर्स के प्रत्याशी रोहित कुमार टम्टा ने कहा कि कॉलेज में अराजकता का माहौल अभी व्याप्त है। बेहतर शिक्षा के लिए कॉलेज का माहौल शैक्षणिक बनाना उनकी प्राथमिकता होगी। साथ ही छात्रों के प्रवेश से लेकर छात्रवृत्ति व परीक्षा परिणाम समय से घोषित कराए जाने पर बल दिया। एनएसयूआइ के अध्यक्ष पद प्रत्याशी संदीप ¨सह तड़ागी ने अपने संबोधन में कहा कि कहा कि उनकी नीति सभी को साथ लेकर चलने की है। कालेज में बेहतर शिक्षा का माहौल बनाने का वह पुरजोर प्रयास करेंगे। साथ ही कोशिश होगी कि जो भी छात्र हितों के मुद्दे हों उनका सटीक समाधान निकले। ताकि छात्रों का भविष्य अधिक सुरक्षित हो सके। जुलूस निकालने पर भड़कीं एसएसपी, लाठी लेकर उतरीं मैदान में

बिना पूर्व अनुमति लिए ही छात्रों की तरफ से प्रत्याशियों के समर्थन में जुलूस निकाले जाने पर एसएसपी पी रेणुका देवी ने सीओ कमलराम आर्या, कोतवाली प्रभारी चंद्रमोहन ¨सह को जमकर फटकारा। उनका कहना था कि इस स्थिति की सूचना न देने की जिम्मेदारी उनकी है। इस तरह जुलूस की अराजकता के चलते जाम की स्थिति बन गई। इसकी सूचना समय पर उनको नहीं दी गई। जिसके बाद खुद ही लाठी लेकर मैदान में उतरीं एसएसपी पी रेणुका देवी ने जुलूस के रास्ते को एक किनारे कर जाम खुलवाया। इसी बीच कई बार पुलिस को छात्रों को काबू करने में जहां पसीने छूटते नजर आए। वहीं लाठी पटककर जुलूस में जा रहे छात्रों को नियंत्रित किया। इस बीच बिना हेलमेट लगाकर जूलूस में आए छात्रों की बाइक से चाबी एसएसपी ने खुद निकालकर सीओ को सौंपी। बाद में सभी को चाबियां वापस की गईं। एसएसपी का कहना था कि जुलूस निकालने का कार्यक्रम न तय था न ही उसकी अनुमति ली गई। लिहाजा पुलिस को व्यवस्था बनाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। भाजपा जिलाध्यक्ष सहित कई रहे मौजूद

कॉलेज परिसर में जुलूस के ठीक पीछे भाजपा जिलाध्यक्ष गोविंद ¨सह पिलख्वाल, वरिष्ठ भाजपा नेता ललित लटवाल, भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष कुंदन लटवाल, कैलाश गुरुरानी, महामंत्री रवि रौतेला सहित दर्जनों की संख्या में भाजा कार्यकर्ता व पदाधिकारी मौजूद रहे। बाद में आम सभा के दौरान भी सभी मुख्य मंच के ठीक पीछे बैठकर संबोधन सुनते दिखाई दिए।

Posted By: Jagran