संवाद सहयोगी, चौखुटिया : विकास खंड अंतर्गत तड़ागताल में स्थित बरसाती झील को स्थायी झील के रूप में विकसित करने को लेकर विधायक महेश नेगी की मौजूदगी में जिलाधिकारी नितिन भदौरिया ने क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों के साथ रायशुमारी की। इस दौरान उन्होंने झील के सौंदर्यीकरण प्रस्ताव के स्वरूप पर चर्चा करते हुए ग्रामीणों की सहमति जानी। काफी गहमागहमी के बीच ग्रामीणों ने प्रस्ताव पर सशर्त सहमति व्यक्त की एवं तमाम गांवों की समस्याओं को भी अपनी रायशुमारी में उकेरा।

विधायक महेश नेगी ने कहा कि राज्य सरकार ने स्थायी झील निर्माण के लिए नियम तीन सौ के तहत स्वीकृति दे दी है। कहा कि क्षेत्र विकास में यह झील मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने ग्रामीणों में सहयोग का आह्वान किया। डीएम ने झील से पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ साथ अन्य विषयों पर ग्रामीणों व अधिकारियों के सुझाव लिए तथा झील के फायदे भी गिनाए। उन्होंने सिंचाई समेत अन्य विभाग के अधिकारियों से लोगों के सुझाव के अनुरूप स्थायी झील की कार्य योजना तैयार करने को कहा।

राइंका तड़ागताल में हुई इस बैठक में ग्रामीणों ने अपनी समस्याएं रखी तथा झील के सौंदर्यीकरण को सशर्त सहमति दीं। बीच बीच में गहमागहमी भी रही, लेकिन बाद में शांत हो गए। इस अवसर पर तडागताल क्षेत्र के प्रधान, जनप्रतिनिधि व ग्रामीण मौजूद थे।

----------

डीएम को ग्रामीणों ने सौंपा ज्ञापन

बैठक के लिए जाते समय जाबर पर भैंसियागाड़ की महिलाओं ने विधायक व डीएम को रोक लिया तथा उनके सम्मुख अपनी समस्याएं रखी तथा ज्ञापन सौंपा। इनमें जाबर नाक स्थान से भैंसियागाड़ गांव को ढ़ाई किमी सड़क से जोड़ने व गांव को ग्राम पंचायत नौगांव बैड़िया से हटाकर ढ़नाण में शामिल करने की मांगें शामिल हैं। इस दौरान संघर्ष समिति अध्यक्ष हीरा देवी, रूद्र सिंह, प्रेम सिंह, भूर सिंह, हिम्मत सिंह, गुसाई सिंह, भावना देवी, नंदी, हंसी, खीमा देवी, इंद्रा देवी आदि शामिल थे।

----------------------

डीएम ने बरसाती झील का किया अवलोकन

विधायक के साथ डीएम ने तड़ागताल बरसाती झील का स्थलीय निरीक्षण किया तथा आसपास बसे गांवों का भी जायजा लिया। उन्होंने इसे सुंदर प्राकृतिक झील बताया तथा कहा कि स्थायी झील बन जाने के बाद क्षेत्र में रौनक बढ़ेगी तथा रोजगार के अवसर खुलेंगे। इस दौरान विभिन्न विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।

Posted By: Jagran