संवाद सहयोगी, रानीखेत : कुमाऊं व नागा रेजिमेंट के द्विवार्षिक सम्मेलन तथा पुनर्मिलन (रि-यूनियन) समारोह आरंभ हो गया है। पहले दिन विभिन्न बटालियन कमांडरों की बैठक में रेजिमेंट की तरक्की तथा अन्य क्रिया कलापों पर विस्तार से चर्चा कर सेना इसे और बेहतर बनाने की रणनीति पर चर्चा की गई।

पुनर्मिलन समारोह (रियूनियन) के तहत बटालियन कमाडर काफ्रेंस का शुभारंभ कर्नल ऑफ द रेजिमेंट लेफ्टिनेंट जनरल वीएस सहरावत (एवीएसएम, एसएम) ने सैन्य अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान रेजिमेंट की तरक्की पर चर्चा के साथ ही बेहतरी के लिए भविष्य की रणनीति पर विचार सांझा किए।

===========

दो वर्ष में एक बार होती है बैठक

कुमाऊं व नागा रेजिमेंट केंद्र का पुनर्मिलन समारोह चार वर्ष में एक बार होता है। जबकि बटालियन कमांडरों की बैठक प्रत्येक दो वर्ष में आयोजित की जाती है। इसमें रेजिमेंट की नीतियों अन्य क्रिया कलापों पर चर्चा के साथ भविष्य की रणनीति पर मंत्रणा की जाती है। पुनर्मिलन (रि-यूनियन) कमाडेंट कॉन्फ्रेंस में कुमाऊं रेजिमेंटल सेंटर के कमाडेंट ब्रिगेडियर जीएस राठौर, डिप्टी कमाडेंट कर्नल निखिल श्रीवास्तव समेत सेना के कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस