रानीखेत, [जेएनएन]: उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के करीब आते-आते सत्ता पक्ष कांग्रेस ने राज्य में विपक्ष भाजपा के साथ ही केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ माहौल बनाने की रणनीति तैयार कर ली है। इसी के तहत प्रदेशव्यापी 'मोदी जवाब दो भाजपाइयों जवाब दो' के तहत घेराबंदी की रूपरेखा तय कर ली गई है।

इसी क्रम में अल्मोड़ा जनपद के रानीखेत में 21 सितंबर को कांग्रेसी जुलूस निकाल जनसभा करेंगे। कांग्रेस की जिला नगर ब्लॉक कमिटी की बैठक में भाजपा को घेरने के लिये चुनाव के दौरान की गई घोषणाओं की पोल खोलने का निर्णय लिया गया है।

पढ़ें: उत्तराखंड में पीडीएफ पर कांग्रेस सरकार और संगठन में शीतयुद्ध

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं नगर अध्यक्ष कैलाश पांडे ने कहा की 'मोदी जवाब दो भाजपाइयों जवाब दो' प्रदेशव्यापी कार्यक्रम के दौरान उत्तराखंड में चुनी हुई कांग्रेस की सरकार को गिराए जाने, आपातकाल मानकर राष्ट्रपति शासन लगाए जाने तथा 4 माह तक प्रदेश का बजट रोकने के कारण पूछे जाएंगे।
उन्होंने कहा कि इस प्रदर्शन के दौरान भाजपा से यह सवाल भी पूछा जाएगा कि पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के कार्यकाल में सदन न चलने देने वाले वाला विपक्ष आज बहुगुणा को अपना मुखिया क्यों मान चुकी है?

पढ़ें: उत्तराखंड में आप को झटका, बल्ली सिंह चीमा ने भी कहा अलविदा
जिलाध्यक्ष महेश आर्या ने कहा कि जैनी प्रकरण में आरोपी रहे हरक सिंह रावत को भाजपा ने आज उन्हीं को पर्दाफाश रैली की कमान दी गई है। इसके अलावा पॉलीथिन तथा बीज घोटाले में आरोपी रही अमृता रावत व
सतपाल महाराज को सर्वेसर्वा क्यों मान बैठी है। तय किया गया कि इन्हीं सब मुद्दों पर विपक्षी भाजपा व केंद्र की मोदी सरकार को घर जनता के समक्ष पोल खोली जाएगी।
इस मौके पर जिलाध्यक्ष महेश आर्या, ब्लाक अध्यक्ष बच्चे सिंह देव, परिवहन निगम निदेशक सदस्य सुंदर लाल गोयल, व्यापार मंडल अध्यक्ष भगवंत सिह, किसान प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष गोपाल सिंह देव, गोविंद सिंह बिष्ट, हेमंत मेहरा आदि ने अपने विचार रखे।

पढ़ें: यदि भाजपा दस हजार करोड़ दे तो गैरसैंण को बना देंगे राजधानीः किशोर

Posted By: gaurav kala

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस