संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : डूंगरी गांव में ग्रामीण को निवाला बनाने वाला हिसक गुलदार पिजड़े में कैद नहीं हो सका है। उसकी गतिविधियों पर नजर रख कॉरिडोर का पता लगाने के लिए वन विभाग अब कैमरों की मदद ले रहा। घटना स्थल के आसपास गुलदार के संभावित कॉरिडोर व उसके गुजरने का सही समय पता लगाने के मकसद से दो स्थानों पर कैमरे लगा दिए गए हैं।

बताते चलें कि बीती आठ अक्टूबर को डूंगरी गांव (भैंसियाछाना ब्लॉक) में गुलदार ने रमेश राम (62) को शिकार बना लिया था। घटना तब हुई जब रमेश राम सायं लगभग सात बजे पेटशाल कस्बे से अपने घर को लौट रहा था। आबादी से कुछ दूर घात लगाए हिसक गुलदार ने हमला कर ग्रामीण को मार गिराया। ग्रामीणों की मांग पर विभाग ने घटना स्थल के पास पिजड़ा लगाया, ताकि गुलदार को कैद किया जा सके। मगर चार दिन बीतने के बावजूद गुलदार पकड़।में नहीं आ सका। इससे क्षेत्र में दहशत बरकरार है।

इधर रविवार को डीएफओ कुंदन कुमार के निर्देश पर डूंगरी गांव स्थित घटनास्थल के आसपास दो स्थानों पर कैमरा लगा दिए गए हैं। डीएफओ ने कहा कि क्षेत्र में हिसक हो चुके गुलदार से सचेत रहने के लिए जनचेतना अभियान चलाया जा रहा है। लोगों से धैर्य रखने की अपील कर उम्मीद जताई कि कैमरे के जरिये गुलदार की गतिविधियों पर नजर रखी जा सके। इसी आधार पर उसके घटना स्थल के आसपास मंडराने के समय का पता लगने पर उसे ट्रैंकुलाइज कर कैद करने में मदद मिलेगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप