संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व रविवार को धार्मिक आस्था के साथ उत्साहपूर्वक मनाया। इस मौके पर लोगों ने उपवास रख कृष्ण मंदिरों में पूजा- अर्चना कर सुख- समृद्धि व निरोगी काया की कामना की। दिन भर कृष्ण मंदिरों में भजन- कीर्तन से श्रीकृष्ण व राधा की महिमा का गुणगान किया।

इस शुभ मौके पर लोगों ने उपवास रखकर जिले के विभिन्न स्थानों में स्थापित भगवान श्रीकृष्ण मंदिरों में पूजा अर्चना की। नगर के प्राचीन मुरलीमनोहर मंदिर में सुबह से ही श्रद्धालुओं की कतार लगी रही। यहां नगर क्षेत्र के साथ ही आसपास स्थित ग्रामीणों क्षेत्रों से पहुंचे श्रद्धालुओं ने श्रद्धापूर्वक भगवान श्रीकृष्ण की पालना झूलाकर पूजा- अर्चना की। महिलाओं ने विविध वाद्ययंत्रों के साथ भजन- कीर्तन गाकर भगवान श्रीकृष्ण की महिमा का बखान किया। पूजा- अर्चना का क्रम देर सायं तक चलता रहा। इधर सरस्वती शिशु मंदिर जीवनधाम में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। बच्चों ने भगवान श्रीकृष्ण से संबंधित भजन प्रस्तुत किए। प्रधानाचार्य भैरव सिंह कार्की ने बच्चों को भगवान श्रीकृष्ण के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने भगवान श्रीकृष्ण के अनेक प्रसंगों से बच्चों को अवगत कराया। इस मौके पर गिरिजा शंकर पाठक, ओम प्रकाश लोहनी, विनोद जोशी, हरीश मेहता समेत अनेक आचार्य मौजूद थे।

---------

तहसील भनोली के सैमधुरा में महोत्सव शुरू

जिले के तहसील भनोली के सैमधुरा मंदिर परिसर में दो दिनी जन्माष्टमी महोत्सव रविवार को शुरू हुआ। मंदिर परिसर में स्थापित राधा-कृष्ण मंदिर में लोगों ने बड़ी संख्या में पूजा अर्चना की। महिलाओं ने इस मौके पर झोड़ा गायन भी किया। आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से पहुंचे लोगों ने इस कार्यक्रम में बढ़चढ़कर सहभागिता की। महोत्सव का समापन भजन-कीर्तन व आरती के बाद प्रसाद वितरण के साथ सोमवार को होगा।

Posted By: Jagran