संवाद सहयोगी, चौखुटिया: गणपति सेवा समिति के तत्वावधान में यहां पुरानी बाजार में चल रहे गणेश महोत्सव में भक्तिरस की रसधारा बह रही है। श्रद्धालु सुबह शाम गणेश मूर्ति पूजन व भजनों में मस्त हैं। चौथे दिन रविवार को भी समूचा पंडाल मधुर भजनों के स्वरों से गूंज उठा। शाम को सभी ने आरती में सहभागिता कर प्रसाद ग्रहण किया। इधर मासी वैली स्कूल परिसर में भी गणेश महोत्सव की धूम है।

आयोजन स्थल पर रोज की तरह सुबह वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच गणेश जी की विशेष पूजा-पाठ

पंडित शंकर दत्त जोशी ने संपन्न कराया। मुख्य यजमान के रूप में केवला नंद जोशी ने सपरिवार शामिल हैं। पूजा पाठ के उपरांत गणेश जी के मंगल गीतों के साथ आरती उतारी गई एवं प्रसाद वितरण किया गया। इस दौरान गणपति के भजनों से माहौल भक्तिमय हो उठा। शाम को माता लखनेश्वरी के सुरीले भजनों ने ऐसा रंग जताया कि पंडाल में मौजूद श्रद्धालु भक्तिरस की गंगा में डूब गए।

इस दौरान तेरी जय हो गणेश देवा., मां जग जननी जय जय., मेरे गुरूवर दया के सागर., श्री राधा-रमण हरी बोल., हे भगवती भवानी मां देवी दैंणी है जाई.अपनी बाणी में अमृत घोल.सुर-सुरू जौंला देवी का मंदिरा..व हिटो दीदी हिटो भुली केदार नाथा जौंला.जैसे भजनों के स्वर देर शाम तक बहते रहे। अंत में सभी ने आरती में सामूहिक रूप से भागीदारी कर प्रसाद पाया। समिति के संयोजक राजेंद्र कांडपाल ने बताया कि आज 17 सितंबर को भव्य शोभा यात्रा के बाद मूर्ति का विसर्जन कर दिया जाएगा। उन्होंने श्रद्धालुओं से अधिक से अधिक संख्या में पहुंचने की अपील की है। मासी में भी 17 सितंबर को मूर्ति विसर्जित कर दी जाएगी।

Posted By: Jagran