मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सहयोगी, रानीखेत : आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने गाव के ही एक व्यक्ति पर मारपीट, अभद्रता व आए दिन धमकाने का आरोप लगाया है। पीड़िता ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र भेज उसे व सात वर्षीय बेटी की जानमाल के खतरे की आशंका जता न्याय की गुहार लगाई है। साथ ही आरोपित के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की भी माग उठाई है।

मजखाली अल्मोड़ा हाईवे से लगे बबुरखोला गाव निवासी विमला बेलवाल पत्‍‌नी बसंत बेलवाल ने डीएम नितिन सिंह भदौरिया को शिकायती पत्र देकर कहा है कि गाव का ही देवेंद्र सिंह बीते चार अप्रैल को सुबह छह बजे उसके घर आ धमका। उसके पति पानी लेने जा रहे थे। देवेंद्र सिंह ने उसके पति पर हमला बोल दिया। आरोप है कि बीचबचाव करने पर देवेंद्र ने गालीगलौज कर उसे भी पीटना शुस् कर दिया।

पीड़िता के अनुसार आरोपित आए दिन अश्लील हरकत करता है। जान से मारने की धमकी भी दी जाती है। यह भी आरोप है कि बीती तीन फरवरी को उसने मारपीट की। तब राजस्व उपनिरीक्षक डीडा को सूचना दी गई मगर कोई कार्रवाई नहीं हुई। पीड़िता के अनुसार वह आगनबाड़ी केंद्र मछलिया में कार्यरत है। वह रोजाना तीन किमी आना जाना करती है। ऐसे में उसे व घर पर अकेली रहने वाली सात वर्षीय बेटी की जान का खतरा बना हुआ है। उसने डीएम से न्याय की गुहार लगाते हुए आरोपित के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की गुहार लगाई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप