संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : विवेकानंद इंटर कॉलेज में गुरुवार को पुरातन छात्र सम्मेलन आयोजित किया गया। इसमें छात्रों ने अपने विचार साझा किए। कहा कि वह विद्यालय के उत्तरोत्तर विकास को सतत प्रयत्नशील रहेंगे। इस सम्मेलन में पुरातन छात्रों ने उत्साहपूर्वक भागीदारी की।

इस मौके पर विद्यालय के प्रधानाचार्य मोहन सिंह रावल ने पुरातन छात्र संगठन के महत्व व इसकी उपयोगिता पर चर्चा की। उन्होंने पुरातन छात्रों को आशीर्वचन देते हुए कहा कि सभी पुरातन छात्र जिस भी क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं वह उस क्षेत्र में लगन व मेहनत से कार्य करें ताकि भविष्य में और अधिक सफलता अर्जित कर सकें। उन्होंने कहा कि प्रतिवर्ष होली से पूर्व तथा दीप पर्व दीप दीपावली के बाद विद्यालय में पुरातन छात्र सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। जिसमें सभी की सहभागिता जरूरी है। इस मौके पर पुरातन छात्र नीरज तिवारी, अरूण वर्मा, बसंत पांडे, नीरज पंथनी, अरूण, राकेश भाकुनी, रमेश भट्ट, रवि लोहनी, अर्जुन बिष्ट, प्रशांत पपनै, गौरव यादव व आशीष पंत ने विचार रखते हुए कहा कि विद्यार्थी जीवन, जीवन का स्वर्णिम अवसर है, अत: इसके पल -पल का उपयोग किया जाना चाहिए। वक्ताओं ने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में कार्य कर रहे पुरातन छात्र समय -समय पर विद्यालय के छात्रों को अपने अनुभवों से लाभान्वित करेंगे। सम्मेलन का संचालन भाष्करानंद कांडपाल ने किया। इस मौके पर मनोज पंत, कैलाश जोशी, भूपेश पंत समेत अनेक आचार्य, छात्र व कर्मचारी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस