संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : सांस्कृतिक नगरी में रविवार को लगने वाला बाजार अब नहीं लगेगा। बीते सप्ताह रविबाजार को बंद किए जाने के बाद गहमागहमी के बीच हुई बैठक में यह कड़ा फैसला ले लिया गया। तय हुआ कि स्थानीय गरीब फड़ वालों को ही छूट दी जाएगी, वह भी उसी स्थान पर जहां वह लगातार व्यवसाय करते आ रहे। इसके लिए बाकायदा उनका दोबारा चिह्निकरण कर नए सिरे से कार्ड मुहैया कराए जाएंगे। साथ ही बाहरी शहरों व कतिपय दुकानदारों को इसकी इजाजत कतई नहीं दी जाएगी।

कलक्ट्रेट परिसर में एसडीएम सीमा विश्वकर्मा के निर्देशन में पालिका, पुलिस व प्रशासन की मौजूदगी में व्यापार मंडल व फड़ वालों की गुरुवार को अहम बैठक हुई। इस दौरान खासी गहमागहमी भी रही। शहर व्यापार मंडल अध्यक्ष सुशील साह ने दो टूक कहा कि रवि बाजार से अराजकता का माहौल तैयार हो रहा। बाहरी शहरों से व्यवसायियों के यहां पहुंच जाने से स्थानीय गरीब फड़ वालों को घाटे की मार झेलनी पड़ रही।

फड़ व्यवसायियों की ओर से यूसुफ तिवारी ने पक्षा रखा। ईओ पालिका श्याम सुंदर ने बताया कि नगर में 84 फड़ व्यवसायियों के कार्ड बने हैं। उसी आधार पर उन्हें दुकान लगाने के लिए स्थान दिए गए हैं। मगर आहम सहमति बनी कि अब रवि बाजार नहीं लगाया जाएगा। बल्कि स्थानीय पात्र गरीबों को ही फड़ लगाए जाएंगे।

--------------

ये लिए गए निर्णय

- बाहरी व्यक्ति नगर में फड़ नहीं लगाएगा।

- एक कार्ड पर एक ही फड़ लगेगा।

- जो फड़ वाला जिस जगह पर छह दिन दुकान लगा रहा, रविवार को उसी स्थान पर लगा सकता है।

- साप्ताहिक बंदी के दिन दुकान के बाहर फड़ लगाने वालों पर कार्रवाई

-पात्र फड़ वालों के ही बनेंगे कार्ड

-------------

ये रहे मौजूद

ईओ के साथ ही कोतवाल अरुण वर्मा, तहसीलदार संजय कुमार, व्यापार मंडल सचिव मयंक बिष्ट, महिला उपाध्यक्ष अनीता रावत, उपाध्यक्ष प्रत्येश कुमार, उपसचिव राहुल बिष्ट, कोषाध्यक्ष कार्तिक साह, कृष्ण बहादुर, बलवंत राणा, मो. बिलाल, नवीन आर्या, मो. नाजिम, शहजाद हुसैन आदि।

-----------

वेंडर जोन के लिए तेज करें प्रयास : एसडीएम

रवि बाजार में दुकान लगाने से वंचित व्यवसायियों के लिए वेंडर जोन में कारोबार का एक मौका है। यह मामला शासन में विचाराधीन है। एसडीएम सीमा विश्वकर्मा ने वेंडर जोन को जल्द आकार देने के लिए ईओ पालिका को निर्देश दिए कि वह शासन पत्राचार करें।

--------------

'रवि बाजार अब नहीं लगेगा। कोई भी बाहरी व्यक्ति या दुकानदार फड़ नहीं लगाएगा। नियमों का उल्लंघन भी नहीं होने देंगे। पालिका, व्यापार मंडल व जिला प्रशासन ने तय किया है कि नगर क्षेत्र के गरीब छह दिन फड़ दिन लगाता है, उसी स्थान पर सातवें दिन यानी रविवार को भी फड़ लगाएगा। हालांकि पहले उनका भी चिह्निकरण किया जाएगा। नए कार्ड बनाए जाएंगे।

- सुशील साह, शहर व्यापार मंडल अध्यक्ष'

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस