संवाद सहयोगी, चौखुटिया: राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ ब्लॉक इकाई के तत्वावधान में बुधवार को शिक्षक भवन में वर्तमान परिपेक्ष्य में-शिक्षा व शिक्षक की भूमिका विषयक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इसमें वक्ताओं ने विद्यालयों में शिक्षा का बेहतर माहौल बनाने एवं बच्चों के सर्वागीण विकास में शिक्षकों की भूमिका को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि उन्हें इस दिशा में ठोस पहल करनी होगी। इस दौरान शिक्षकों की लंबित समस्याओं पर चर्चा की गई एवं पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करने की मांग प्रमुखता से उठी।

वक्ताओं ने कहा कि आज शिक्षा में तमाम तरह के बदलाव आ रहे हैं, ऐसे में शिक्षकों की भी जिम्मेदारियां भी बढ़ गई हैं। ऐसे में शिक्षा स्तर को बढ़ाने व बच्चे का जीवन सफल बनाने के लिए शिक्षक भरसक प्रयास करें। सभी ने बच्चों के हित में जुटने का आह्वान किया। गोष्ठी में यह भी सुझाव आया कि शिक्षकों से शिक्षण के इतर अन्य कोई कार्य न लिया जाए। पुरानी पेंशन बहाली के मुद्दे पर भी विचार मंथन हुआ तथा इस व्यवस्था को फिर से बहाल करने का प्रस्ताव पारित किया गया।

खंड शिक्षा अधिकारी भारत जोशी ने बच्चे को सफल इंसान बनाने में शिक्षकों की भूमिका पर चर्चा की। कहा कि वे पूरी इमानदारी के साथ शिक्षण कार्य करें। इस दौरान राजकीय शिक्षक संघ के अध्यक्ष भारतेंदु जोशी, अध्यक्ष प्राथमिक शिक्षक संघ दिनेश रावत, गिरीश मठपाल, कुलदीप पांडे, नंद किशोर, सुशीला नेगी, हरीश सिंह अधिकारी, मंजू शर्मा, मनोहर गिरि, युसूफखान व शैलेंद्र नेगी आदि ने विचार व सुझाव रखे।

Posted By: Jagran