जागरण संवाददाता, अल्मोड़ा : शुक्रवार को पुलिस की लचर कार्यशैली से हुई फजीहत के बाद शनिवार को मतदान के दौरान पुलिस की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रही। इसके बाद एक-एक छात्र को मुख्य प्रवेश द्वार से चे¨कग के बाद ही मतदान के लिए भेजा गया। कुल 10 बूथों पर सुबह 10 बजे से दो बजे तक शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न हुआ। इस दौरान कुल 54 सौ मतदाताओं में से मात्र 3 हजार 22 छात्र मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इस दौरान प्रशासन की तरफ से एसडीएम सदर व सीओ कमल राम आर्या परिसर के अंदर ही सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डटे रहे।

एसएसजे परिसर में शनिवार को मतदान बेहद कड़ी सुरक्षा व्यवस्था व शांतिपूर्ण माहौल में शुरू हुआ। सुबह दस बजे से ही छात्रों का हुजूम मतदान के लिए पहुंचने लगा। इस बार मतदाताओं की संख्या कुल 54 सौ रही जिसमें 55 प्रतिशत यानि 3 हजार 22 छात्रों ने अपने मत का प्रयोग किया। दोपहर दो बजते ही सभी 10 बूथों में चल रहे मतदान को नियमानुसार बंद किया गया। इस दौरान कोतवाली प्रभारी नीरज भाकुनी भी पूरी तत्परता से तैनात रहे। शुक्रवार को छात्रों के जूलूस को रोकने में नाकाम रही पुलिस मतदान के दौरान बेहद सतर्क दिखाई दी। एक-एक छात्र को बैरेके¨डग पर ही परिचयपत्र जांच करने व फोटो मिलाने के बाद ही अंदर भेजा गया। मेटल डिटेक्टर लगाकर सघन तलाशी ली गई। कुलानुशासक डॉ. देवेंद्र ¨सह बिष्ट ने बताया कि दोपहर ढाई बजे के बाद मतगणना का काम शुरू कर देर शाम तक परिणाम घोषित करने के बाद तत्काल नवनिर्वाचित पदाधिकारियों की शपथ दिलाई जाएगी।

...........

फर्जी मतदाताओं पर रही खास नजर

पिछले साल की तुलना में इस बार किसी भी बूथ पर फर्जी मतदान की सूचना नहीं मिली। जबकि पूर्व के वर्षो में फर्जी मतदान को लेकर कई बार बवाल होता रहा है। इस बार बेहद शांतिपूर्ण तरीके से मतदान कार्यक्रम संपन्न हुआ। एसडीएम सदर विवेक राय ने मय पुलिस फोर्स के बूथों में चल रहे मतदान का निरीक्षण किया। उनके साथ सीओ सदर कमल राम आर्य भी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran