संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : उत्तराखंड क्रांति दल की जिला इकाई ने बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी व सरकारी संस्थानों के निजीकरण के विरोध में गांधी पार्क पर धरना दिया। साथ ही राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। कहा कि दल जनविरोधी नीतियों को कतई बर्दाश्त नहीं करेगा। इसके लिए संघर्ष अभियान जारी रहेगा।

शुक्रवार को धरना स्थल पर हुई सभा में वक्ताओं ने कहा कि महंगाई व भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के नारे के साथ सत्ता में आई भाजपा सरकार के कार्यकाल में यह निरंतर बढ़ती जा रही है। पिछले तीन माह में गैस सिलिडर के दामों में 225 रुपये की वृद्धि हुई है। सब्सिडी भी नाममात्र की दी जा रही है। इससे गरीब व मध्यम वर्ग की जनता का बजट ही गड़बड़ा गया है। डीजल-पेट्रोल के दामों में वृद्धि से जहां घरेलू जरूरी सामान महंगा हुआ है, वहीं यात्री किराया बढ़ने से भी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कहा गया कि बेरोजगारी चरम पर है। वहीं सरकार बेरोजगारों के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने के स्थान पर रिक्त पदों को समाप्त कर रही है। कुछ संख्या में आउटसोर्स से नियुक्तियां कर बेरोजगारों का शोषण कर रही है। वक्ताओं ने महंगाई रोकने के लिए सरकार से कारगर उपाय करने, बेरोजगारो को रोजगार देने, सरकारी रिक्त पदों को भरने के साथ-साथ उद्योगों में जीवन यापन योग्य वेतनमान निर्धारित करने की मांग की है। वहीं दल ने सरकारी संस्थानों के निजीकरण को शीघ्र रोके जाने, राज्य आंदोलनकारियों की पेंशन 15 हजार रुपये मासिक करने तथा क्षैतिज आरक्षण बहाल करने की भी मांग उठाई। धरने पर जिलाध्यक्ष शिवराज बनौला, केंद्रीय उपाध्यक्ष ब्रह्मानंद डालाकोटी, महेश परिहार, दिनेश जोशी गोपाल मेहता, गिरीश नाथ गोस्वामी, हरीश जोशी, भानुप्रकाश जोशी, दौलत सिंह बगड्वाल आदि बैठे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021