संस, अल्मोड़ा : दुग्ध उत्पादक विकास संगठन ने दुग्ध उत्पादकों की विभिन्न मांगों का तुरंत समाधान करने की मांग की है। वहीं, 15 दिनों के भीतर कार्रवाई न होने पर आंदोलन करने की चेतावनी दी है। संगठन ने समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री व दुग्ध विकास मंत्री को ज्ञापन भेजा है।

ज्ञापन में उत्पादकों को दुग्ध मूल्य 40 रुपये प्रति लीटर देने, सरकारी प्रोत्साहन की राशि चार से बढ़ाकर पांच रुपये प्रति लीटर करने, पशु आहार अनुदान पूर्व की भांति देने, दुग्ध समिति सचिव को 50 पैसे के स्थान पर मानदेय एक रुपया प्रति लीटर देने, वर्ष 2016 अक्टूबर से मार्च 2017 तक की दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन की रोकी गई धनराशि शीघ्र जारी करने, पैदल मार्गो पर स्थित समितियों का हेड लोड अनुदान एक रुपया प्रति लीटर प्रति किलोमीटर करने, हर माह समय से भुगतान करने, पर्वतीय क्षेत्र के दुग्ध संघों की अनुदान सहायता तथा बिना ब्याज ऋण उपलब्ध कराए जाने शामिल हैं। दुग्ध संघों के घाटे में जाने के कारणों की जांच करने व अनावश्यक खर्चों में कटौती की मांग भी दुग्ध उत्पादकों ने की है। वहीं, एनसीडीसी से सहायता प्राप्त पशु खरीद योजना को पर्वतीय क्षेत्र के लिए व्यावहारिक बनाए जाने, परियोजना में रखी गई पशु खरीद की कीमत को बाजार के वास्तविक मूल्य के आधार पर तय करने, परियोजना में अनुदान राशि बढ़ाकर 50 प्रतिशत करने, योजना के तहत लाभाíथयों को किसी भी जिले से दुधारू पशु खरीद की अनुमति देने की मांग भी की गई है। दुग्ध उत्पादकों ने कहा है कि 15 दिन के अंदर समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो वे आंदोलन करेंगे। ज्ञापन देने वालों में दुग्ध उत्पादक विकास संगठन के अध्यक्ष आनंद सिंह बिष्ट, ग्राम प्रधान त्रिभुवन तिवारी, खोलियाबांज सचिव विपिन हरबोला, हीरा सिंह, ब्रह्मानंद डालाकोटी, शिवराज बनौला आदि शामिल रहे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021