संस, द्वाराहाट : विकासखंड के बग्वालीपोखर क्षेत्र के रवाड़ी गांव में धार्मिक अनुष्ठानों के साथ श्रीमद्भागवत कथा का श्रीगणेश हुआ। महिलाओं ने पारंपरिक परिधानों से सज धजकर भव्य कलश यात्रा निकाली। इस दौरान भगवान श्रीकृष्ण के जयकारों से माहौल भक्तिमय हो गया।

रवाड़ी गांव के कालिका मंदिर में प्रात: से ही पूजा अर्चना का दौर शुरू हुआ। इसके बाद कलशयात्रा शुरू हुई। जो मंदिर परिसर से विभिन्न मार्गो से होकर स्यालधार नौला पहुंची। धर्माचार्य गणेश तिवारी, सुनील तिवारी व कैलाश तिवारी ने यजमान राज बिष्ट व आरती बिष्ट से धार्मिक अनुष्ठान पूरे करवाए। बाद में कथावाचन करते हुए मुक्तेश्वर धाम वैष्णव आश्रम पिथौरागढ़ से पहुंचे कथा व्यास 108 महंत रमेश दास ने श्रीमद्भागवत महात्म्य बताते हुए भगवान श्रीकृष्ण की विभिन्न लीलाओं का बखान किया। यजमान राज बिष्ट व आरती बिष्ट ने बताया कि कथा का आठ मार्च को पूर्णाहुति व भंडारे के साथ पारायण होगा। इस दौरान पंकज चौधरी, मोहित चौधरी, ललित तिवारी, नरेंद्र साह, मनोज बिष्ट, हरीश चौधरी आदि कार सेवा में जुटे रहे। देर सायं तक भजन कीर्तनों का दौर चला।

------------

चैत्राष्टमी मेला सादगी से मनाए जाने का निर्णय

संस, चौखुटिया: गेवाड़ घाटी के अगनेरी माता मंदिर परिसर में प्रतिवर्ष चैत्र नवरात्र के दौरान लगने वाले चैत्राष्टमी मेले को लेकर मेला कमेटी की बैठक मंदिर परिसर में संपन्न हुई। इसमें कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए मेला महज रस्म अदायगी के तौर मनाने का निर्णय लिया गया। कहा गया कि मेले में सांस्कृतिक

कार्यक्रम व अन्य गतिविधियां नहीं होंगी। 20 अप्रैल को मुख्य मेले के दिन परंपरा के अनुसार सौनगांव से मां का डोला सादगी के साथ मंदिर परिसर में लाया जाएगा तथा अगले वर्ष मां का डोला लाने का बीड़ा विधि विधान से ढ़ौन को सौंपा जाएगा।

तय किया गया कि मेला समिति की अगली बैठक 14 मार्च को होगी। इसमें मेले के स्वरूप पर चर्चा होगी। इस अवसर पर अध्यक्ष सुरेंद्र मनराल, डाक्टर कुलदीप बिष्ट, ललित तडियाल, महादेव बिष्ट, जीवन नेगी, दरवान बिष्ट, केवल रावत, लक्ष्मण सिंह थापा, पंडित केवला नंद जोशी व परमानंद सती समेत अन्य मौजूद थे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021