संस, चौखुटिया : ग्रामीणों के सहयोग एवं मंदिर कमेटी के तत्वावधान में यहां रामपुर के त्रिवेणी महादेव मंदिर परिसर में चल श्रीमद्देवी भागवत कथा ज्ञान महोत्सव शुक्रवार को हवन यज्ञ व भंडारे के साथ ही संपन्न हो गया। इस मौके पर दर्जनभर से अधिक यजमानों ने परिवार, गांव व क्षेत्र की सुख-समृद्धि के लिए अग्नि में सामूहिक पूर्णाहूति दी। श्रद्धालुओं ने कथा श्रवण का भी आनंद लिया एवं शाम को भंडारे का प्रसाद ग्रहण किया।

कथा के समापन पर व्यास पंडित बालादत्त जोशी ने श्रीमद् देवीभागवत कथा की महिमा व महात्म्य पर विस्तार से प्रकाश डाला। कहा कि कथा के महात्म्य को सुन लेने मात्र से ही भक्त का कल्याण हो जाता है। धुंधकारी तारा का उदाहरण देते हुए बताया कि उसने बांस के खंभे में बैठकर बड़ी एकाग्रता से जब कथा का श्रवण किया तो इससे उसे मुक्ति मिल गई। पापी से पापी व्यक्ति भी कथा का श्रवण कर ले तो सका उद्धार निश्चित है। व्यास ने मां जगदंबा की महिमा को अपरंपार बताया। कहा कि मां की अराधना जीवन में जरूरी है। उन्होंने सामूहिक रूप से किए गए यज्ञ का भी वर्णन किया। कहा कि यज्ञ से देवता भी प्रसन्न हो उठते हैं तथा इंद्रदेव खुश होकर बारिश कर देते हैं। बाद में संत, कन्या व व्यास पूजन समेत अन्य कार्यक्रम संपन्न हुए तथा आरती महाकार्यक्रम में श्रद्धालुओं ने सामूहिक भागीदारी की। अंत में सभी ने भंडारे का प्रसाद पाया।

----------------

कथा में इन्होंने ने दिया सहयोग

अध्यक्ष गजेंद्र सिंह नेगी, जगत सिंह राई, मोहन सिंह खत्री, पान सिंह, रघुनाथ सिंह, प्रकाश रावत, नारायण दत्त, कृष्णानंद, महेशानंद जोशी, जगदीश, हीरा सिंह नेगी, बाला दत्त, हीरा सिंह बिष्ट, ध्यान सिंह, भवान सिंह मेहरा, राजेंद्र सिंह, देव सिंह, नवीन चंद्र, कुंवर सिंह व मदन सिंह समेत सभी ग्रामीण।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021