संवाद सहयोगी, द्वाराहाट : दुग्ध उत्पादक विकास संगठन की बैठक हंगामेदार रही। सदस्यों ने मवेशियों की खरीद के लिए विक्त्रय केंद्रों की बाध्यता पर सवाल उठाए। कहा कि इस प्रक्त्रिया में पशुपालकों को दोहरा नुकसान उठाना पड़ रहा है। वहीं, दूध का क्त्रय मूल्य न बढ़ाने पर कड़ी नाराजगी जता दो टूक चेतावनी दी कि लंबित मुद्दों का जल्द समाधान न करने पर वे सड़कों पर उतरेंगे।

दुधोली में बुधवार को दुग्ध विकास संगठन की बैठक हुई। इसमें विक्रय केंद्रों की बाध्यता को खत्म कर पशु चिकित्साधिकारी की देखरेख में स्वेच्छा से मवेशी खरीदने की प्रक्रिया पर जोर दिया गया। उन्होंने विभाग के माध्यम से पशु विक्त्रय केंद्रों से लाए जा रहे मवेशियों की खरीद में धांधली का आरोप लगाया। कहा कि इस प्रक्त्रिया से पशुपालकों को अच्छी नस्ल के मवेशी न मिल पाने के कारण उन्हें नुकसान उठाना पड़ रहा। तमाम पशुपालक ऋण की किश्त भी जमा नहीं कर पा रहे।

संगठन से जुड़े पशुपालकों ने दूध का मूल्य बढ़ाकर 40 रुपये प्रति लीटर किए जाने की मांग उठाते हुए दुग्ध उत्पादकों के शोषण का आरोप लगाया। कहा कि समय पर भुगतान किए जाने आदि मागों को लंबे समय से अनदेखा किया जा रहा है। जिसे बर्दास्त नहीं किया जाएगा। तय किया कि अपनी समस्याओं को लेकर तीन मार्च को डीएम के माध्यम से सरकार को ज्ञापन भेजा जाएगा। इस पर भी अमल न होने पर आदोलन की राह पकड़ेंगे। मौके पर संगठन अध्यक्ष आनंद सिंह बिष्ट, भुवन सिंह, राम सिंह, गोपाल सिंह, नीमा बाजनी, दुर्गा देवी, बसंती देवी, भागीरथी देवी, पुष्पा देवी, गीता देवी आदि मौजूद रहे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021