संस, चौखुटिया: बैराठ नगरी के झलाहाट में प्रस्तावित एयरपोर्ट के लिए चयनित भूमि को लेकर सोमवार को एसडीएम आरके पांडे ने धामदेवल के भूमियां मंदिर परिसर में बैठक कर ग्रामीणों के साथ की रायशुमारी की। कहा कि एयरपोर्ट निर्माण सामरिक दृष्टि से जरूरी है। इसलिए ग्रामीण भूमि पर सहमति बनाएं, लेकिन ग्रामीणों ने इसका पूरजोर विरोध किया। कहा कि वे किसी भी सूरत में वे अपनी उपजाऊ भूमि में एयरपोर्ट निर्माण के लिए नहीं बनने देंगे। सुझाव दिया कि यदि एयरपोर्ट का निर्माण जरूरी है तो इसे अन्य स्थानों पर बनाया जाए। जबरन एयरपोर्ट बनाए जाने पर बड़ा आंदोलन शुरू करने का एलान भी किया।

झूलाहाट में वर्षो से एयरपोर्ट निर्माण केलिए सर्वे चल रहा है। बीते दिनों सर्वे कार्य फाइनल कर भूमि सीमांकन कार्य भी पूर्ण कर लिया गया है। कुछ दिन पूर्व सीएम द्वारा भी चयनित जमीन का हवाई सर्वेक्षण किया जा चुका है। समझा जा रहा है कि एयरपोर्ट को हरी झंडी मिल गई है। इसी क्रम में जमीन को लेकर ग्रामीणों से वार्ता करने एसडीएम आरके पांडे झूालाहाट पहुंचे तथा धामदेवल में ग्रामीणों की राय जानी। ग्रामीणों ने एकमत होकर अपना विरोध दर्ज किया।

कहा कि इस संबंध में वे पूर्व में कई बार ज्ञापन देकर अपनी आपत्ति जता चुके हैं। चूंकि यह जमीन उपजाऊ है तथा इसी पर गांवों के काश्तकार आश्रित हैं। ऐसे में यहां एयरपोर्ट बनाना लोगों के साथ अन्याय होगा। लोगों ने यहां तक कह दिया कि वे अपनी एक इंच भी जमीन नहीं देंगे, चाहे उन्हें आत्मदाह ही क्यों न करना पड़े। पीछे नहीं हटेंगे। इस दौरान पूर्व सूबेदार दान सिंह मनराल, पूरन चंद्र देवतला, खीम सिंह कैड़ा, गणेश नायक, कृष्णानंद खुल्बै, उर्बा दत्त व पूर्व प्रधान मोहन सिंह आदि ने विचार रखे। इस अवसर पर किशन सिंह, मनोज भाकुनी, प्रेम सिंह राणा, प्रकाश रेखाड़ी, कुंदन सिंह रौतेला व पूजा मेहरा समेत भा संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021