संस, रानीखेत : देश की सीमाओं के प्रखर प्रहरी सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के गनियाद्योली स्थित सीमांत मुख्यालय का 11वें स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया गया। अधिकारियों व जवानों ने देश की आंतरिक एवं वाह्य सुरक्षा को तत्पर रहने का संकल्प दोहराते हुए राष्ट्र सेवा का संकल्प लेकर विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर कार्य करने वाले तथा कोरोना काल में लोगों की मदद करने वाले अधिकारियों व जवानों को सम्मानित भी किया गया।

सोमवार को गनियाद्योली स्थित एसएसबी सीमांत मुख्यालय के स्थापना दिवस कार्यक्रम का शुभारंभ बल के जवानों ने उपमहानिरीक्षक एमएम काडपाल को गार्ड आफ आनर देकर किया। अपने संबोधन में डीआइजी कांडपाल ने देश की सीमाओं की रक्षा के लिए बल के अधिकारियों व जवानों के कायरें की सराहना की। कहा कि बल ने हर मोर्चे पर दुश्मन के मंसूबों पर पानी फेरा है। प्रचलन क्षेत्र में बल के जवानों ने बीते वर्ष ने मादक पदार्थो की तस्करी के 15, भारतीय व नेपाली मुद्रा के 13, अवैध हथियारों के दो, वन्य जीव तस्करी के तीन मामलों में 245 तस्करों की गिरफ्तारी की गई। साथ ही मानव तस्करी के 17 मामलों में 19 अब तक महिलाओं व बच्चों को छुड़ा कर 21 मानव तस्करों की गिरफ्तारी की गई। उप महानिरीक्षक ने बीते वर्ष जुलाई में शारदा नदी में नाव पलटने तथा बीते दिनों चमोली जिले में आई आपदा के दौरान बचाव व राहत दलों की भी प्रसंशा की। उन्होंने बल के अधिकारियों व जवानों से राष्ट्र की सुरक्षा को तत्पर रहने का आह्वान किया। कार्यक्रम में कमांडेंट डा. त्रिलोक चंद्र, उपकमांडेंट हितेंद्र सिंह पटियाल, सतेंद्र यादव, चंद्रजीत, एचएस बिष्ट, ईई प्रमोद चंद्र पांडेय, सहायक कमांडेंट पीके नाथ, नरेंद्र कुमार आदि मौजूद रहे।

====================

75 अधिकारी व कार्मिक हुए सम्मानित

डीआइजी कांडपाल ने विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले बल के करीब 75 अधिकारियों व कार्मिकों को सम्मानित भी किया। इनमें 21 को उत्कृष्ट सेवा पदक, 10 को अति उत्कृष्ट सेवा पदक, छह को महानिदेशक स्वर्ण पदक, 32 को महानिदेशक सिल्वर पदक से सम्मानित किया। इसके साथ कोरोना काल में सेवा भाव से कार्य करने वाले छह कार्मिकों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

=============

पर्यावरण संरक्षण व सामाजिक गतिविधियों में उल्लेखनीय कार्य

डीआइजी एमएम कांडपाल ने बताया कि बल ने पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करते हुए रानीखेत समेत अन्य क्षेत्रों में 1,77,981 पौधे लगाकर लोगों को जागरूक भी किया। इसके अलावा सीमावर्ती गांवों में स्वास्थ्य शिविर लगाकर 2552 मानव तथा 4882 मवेशियों का इलाज भी किया। या गया। साथ ही विद्यालयों में फर्नीचर देने तथा युवाओं को रोजगार मुहैया कराने के लिए प्रशिक्षण भी दिया गया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021