संस अल्मोड़ा : नगर के रिहायशी इलाकों क्रमश: मल्ला जोशीखोला, तल्ला जोशीखोला, चौघानपाटा, नरसिंहबाड़ी, आफिसर्स कालोनी, डुबकिया व बाड़ी बगीचा में इन दिनों गुलदार का आतंक व्याप्त है। इससे स्थानीय लोगों में भय का माहौल बना है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं के शिष्टमंडल वन विभाग को ज्ञापन सौंपकर प्रभावित क्षेत्रों में पिजड़ा लगाकर गुलदार को पकड़ने की मांग उठाई है।

गुरुवार देर रात्रि मल्ला जोशीखोला निवासी पारितोष जोशी के आंगन में गुलदार दिखाई दिया। पारितोष के अनुसार कुत्तों के लगातार भौंकने और उनके द्वारा हल्ला करने पर ही गुलदार वहां से गया। इसी तरह पंजाब बैंक के नीचे की ओर रहने वाले स्थानीय निवासी पूरन रौतेला के आवासीय परिसर में भी गत रात्रि गुलदार घूमता हुआ दिखाई दिया। रौतेला ने बताया कि रात्रि 11:30 बजे उनके आंगन में गुलदार घूम रहा था। इसी तरह अलग- अलग स्थानों पर गुलदार दिखाई देने से स्थानीय जनता में भय का माहौल बना हुआ है।

इधर शुक्रवार को कांग्रेसजनों का शिष्टमंडल प्रभागीय वनाधिकारी कार्यालय पहुंचा तथा डीएफओ की अनुपस्थिति में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी को ज्ञापन सौंप गुलदार के आतंक से निजात दिलाने की मांग की। ज्ञापन में कहा है कि वर्तमान में शादियों का सीजन चल रहा है और नगर की जनता देर रात्रि तक शादियों में शामिल हो रही है। गुलदार के नगर के रिहायशी इलाकों में विचरण से नगरवासी अत्यंत दहशत में हैं । कांग्रेसजनों ने ज्ञापन के माध्यम से कहा कि पूर्व में भी वन विभाग को इस बारे में सूचित किया जा चुका है। ज्ञापन में विभाग से गुलदार को जल्द पकड़कर लोगों को आतंक से निजात दिलाने की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में कांग्रेस नगर अध्यक्ष पूरन सिंह रौतेला, जिला उपाध्यक्ष पारितोष जोशी, जिला प्रवक्ता राजीव कर्नाटक, यूथ कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता एडवोकेट वैभव पांडे आदि शामिल रहे।

उधर द्वाराहाट विकासखंड के छतगुल्ला क्षेत्र में गुलदार की मौजूदगी से ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है। गुलदार दिन में ही आवासीय इलाकों में मवेशियों के शिकार कर रहा है। लगातार शिकायत के बावजूद वन विभाग अभी तक क्षेत्र में पिजड़ा लगाने में नाकाम रहा है। जिस कारण पंचायत प्रतिनिधियों व अन्य लोगों में आक्रोश व्याप्त है।

जिला पंचायत सदस्य अंजू देवी तथा ग्राम प्रधान पुष्पा जोशी ने शुक्रवार को वन विभाग को ज्ञापन भेज तत्काल पिजड़ा लगाने की मांग उठाई है। कहा कि गुलदार ने दिन में करीब एक बजे हरीश फुलारा की गाय मार डाली। इससे पूर्व वह केवलानंद फुलारा व प्रेमबल्लभ की गायों को निवाला बना चुका है। कहा कि करीब दो माह पूर्व ग्रामीण सुनील फुलारा को मार चुका गुलदार हिसक हो चुका है। जिस कारण ग्रामीणों का घरों से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। उन्होंने प्रभावित क्षेत्र में शीघ्र पिजड़ा लगा गुलदार के आतंक से निजात दिलाए जाने की मांग उठाई है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021