संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा: रोडवेज कर्मचारी संयुक्त परिषद की बैठक में डिपो एवं कर्मचारियों ने अपनी 13 सूत्रीय मांगों का समाधान न होने और मार्च माह का वेतन अभी तक न दिये जाने पर रोष व्यक्त किया।

बैठक में कर्मचारियों ने कहा कि निगम प्रबंधन ने मार्च माह का वेतन अभी तक नहीं दिया है। जिससे कर्मचारियों को बच्चों का दाखिला करवाने व कापी किताब खरीदने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वक्ताओं ने कहा कि निगम प्रबंधन न तो चालक परिचालकों की कमी को पूरा कर रहा है और न ही नई बसों को उपलब्ध करा रहा है। कार्यशाला में टायर और बैट्री भी उपलब्ध नहीं कराई जा रही है। जिससे कर्मचारियों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। बैठक में उन्होंने संविदा, विशिष्ठ श्रेणी, वाहृयश्रोत के कर्मचारियों को नियमित होने तक 18 हजार रुपया देने, मार्च माह का वेतन तुरंत देने, डिपो से संचालित बसों का मार्ग नहीं बदलने, वर्दीधारी कर्मचारियों को वर्दी का कपड़ा खरीद कर देने, परिचालकों का स्थानांतरण न करने, एरियर का भुगतान करने सहित 13 सूत्रीय मांगों पर चर्चा की। कर्मचारियों का कहना है कि कर्मचारियों की मांगों पर जल्द कार्रवाई नहीं की गई तो कर्मचारी आंदोलन की रणनीति बनाने को मजबूर होंगे। बैठक की अध्यक्षता गोविद प्रसाद एवं संचालन राम दत्त पपनै ने किया । बैठक में सुरेश नेगी, तारा जोशी, उमाशंकर सिंह, संजय कुमार, बची सिंह, आनंदी शुक्ला, भगवती नेगी, चंदन सिंह, रमेश चंद्र जोशी, धीरज लटवाल, कमल प्रसाद, कैलाश प्रसाद, संतोष नवियाल, मनोज कुमार, ईश्वरी गिरी आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran