मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : सोमेश्वर में फर्जी स्थाई निवास प्रमाण पत्र के माध्यम से बीस लाख रुपये के लोन लेने का मामला अब तूल पकड़ गया है। उप जिलाधिकारी सोमेश्वर ने भी जहां इस मामले का संज्ञान लेकर शनिवार तक जांच शुरू करने की बात कही है। वहीं खबर प्रकाशित होने के बाद अब योजना के तहत बनाए गए भवन पर वीर चंद्र सिंह गढ़वाली योजना का बोर्ड भी लगा दिया गया है।

बुधवार को जागरण ने अपनी पड़ताल के बाद फर्जी स्थाई प्रमाण पत्र से बीस लाख रुपये का लोन लिए जाने और योजना के अनुरूप उसका संचालन न किए जाने की खबर प्रकाशित की तो सोमेश्वर के लोगों के अलावा अधिकारियों में भी हडकंप मच गया था। आनन फानन में सोमेश्वर की प्रभारी उप जिलाधिकारी सीमा विश्वकर्मा ने इस मामले के बारे में कर्मचारियों से जानकारी प्राप्त की। उन्होंने बताया कि पूरे मामले को संज्ञान में ले लिया है। शनिवार तक मामले की जांच शुरू कर दी जाएगी। इधर खबर प्रकाशित होने के बाद योजना के तहत बनाए गए भवन में बाकायदा वित्तपोषित बैंक के नाम के साथ वीर चंद्र सिंह गढ़वाली योजना का बोर्ड भी लगा दिया गया है। बुधवार को पूरे सोमेश्वर इलाके में यह मामला चर्चा का विषय बना रहा। इधर अब पर्यटन विभाग की योजनाओं का लाभ ले रहे लाभार्थी भी इस खुलासे के बाद अलर्ट हो गए हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप