वाराणसी, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दो दिवसीय दौरे के दौरान शाम अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 19 फरवरी को प्रस्तावित वाराणसी कार्यक्रम की समीक्षा की। प्रधानमंत्री द्वारा काशीवासियों को दिए जाने वाले विकास कार्यों की सौगात के संबंध में परियोजनाओं के बाबत मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा लोकार्पित परियोजनाएं प्रत्येक दशा में एक सप्ताह के अंदर क्रियाशील कर दें ताकि वह जनोपयोगी हो जाएं। इससे पूर्व उनकी गुणवत्ता भी अवश्य परख लें। जिन परियोजनाओं का शिलान्यास किया जाएगा उन पर एक सप्ताह के अंदर निर्माण कार्य शुरू करा दें। 

सीएम ने अफसरों को चेताया कि दिए निर्देशों में किसी भी स्तर पर कतई ढिलाई नहीं बरती जाए। सेतु निर्माण में सुरक्षा मानकों का पालन किया जाए। पंचक्रोशी परिक्रमा मार्ग शिवरात्रि तक ठीक से चलने योग्य बना दी जाए ताकि शिव भक्तों को असुविधा नहीं हो। कहा कि कुंभ के बाद शैव अखाड़े के लोग काशी आएंगे। इस दौरान उनको बेहतर सुविधा मुहैया कराई जाए। 

26 को जलाएं सौभाग्य का दीपक

सीएम ने कहा कि 26 फरवरी को पूरे देश में सौभाग्य योजना के लाभार्थियों के घर पर दीपक जलाया जाएगा। देश में चार करोड़ परिवारों को आजादी के बाद पहली बार बिजली का कनेक्शन मिला है। इस कारण उनके घरों में रोशनी हुई। इस खुशी को प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाए। 

प्रोजेक्टर पर योजनाओं को परखा

सीएम के समक्ष जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने प्रधानमंत्री द्वारा लोकार्पण व शिलान्यास होने वाली परियोजनाओं को बिंदुवार प्रस्तुत किया। सीएम को जानकारी दी कि बीएचयू का कैंसर अस्पताल अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त होगा। इसमें दवाई भी 30 फीसद दाम पर दी जाएगी। मरीज को सभी सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। 

औढ़े में होगी रैली, पांच लाख की जुटान

योगी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 19 फरवरी को प्रस्तावित रैली के संबंध में संगठन के पदाधिकारियों व विधायकों संग बैठक की। रैली रोहनिया के औढ़े गांव में होगी। सीएम ने निर्देशित किया कि इस रैली को ऐतिहासिक बनाई जाए। रैली में पांच लाख लोगों की जुटान का लक्ष्य दिया।

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस