वाराणसी, जेपी पांडेय। विकास प्राधिकरण (वीडीए) की अनदेखी से नगर क्षेत्र में अतिक्रमण कई समस्याओं की जड़ बन गया है। वीडीए सीमा में संचालित छह सौ से अधिक मैरिज लान में विवाह आदि आयोजनों के समय सड़क लगातार जाम रहने से आजिज शहरियों की शिकायत और विरोध के बाद भी अधिकारियों की सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ता। मैरिज लान के अंदर वाहन पार्किंग की व्यवस्था नहीं है। सभी संचालक वाहनों की पार्किंग सड़कों पर कराते हैं। फिर भी वीडीए संचालकों को नोटिस तक नहीं भेजता है। यदि भेज भी दिया तो आगे कार्रवाई भूल जाता है।

शादी-विवाह के सीजन में सड़कों पर जाम की समस्या आम है। किसी बैंक्वेट हाल या मैरिज लान के सामने सड़क पर शादी की खुमारी में झूमते लोग भूल जाते हैं कि जहां वह डांस कर रहे हैं और अपने वाहनों को बेतरतीब खड़ा कर छोड़ दिए हैं उससे आमजन को कितनी परेशानी हो रही होगी। सड़कों किनारे मैरिज लान के चलते जाम से शहर जूझता रहता है और पुलिस जिम्मेदारों संग मूकदर्शक बनी रहती है।

मैरिज लान का मानक

मैरिज लान में कमरा के साथ किचन शेड होना चाहिए। परिसर में पार्किंग हो। प्रवेश गेट पर गार्ड की तैनाती जरूरी है। ध्यान रहे कि वैवाहिक या अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान किसी भी दशा में सड़क पर जाम न लगे। मैरिज हाल में निकासी के दो रास्ते होने चाहिए, एक आगे और दूसरा पीछे। वहीं प्रमुख मार्गों पर मैरिज लान स्थित हों, आवासीय क्षेत्र या कालोनियों में नहीं।

यह होना जरूरी

1500 : वर्गमीटर न्यूनतम जमीन का क्षेत्रफल

24 : मीटर मैरिज लान के सामने सड़क की चौड़ाई

30 : मीटर से कम चौड़ी रोड पर स्थित भवनों की अधिकतम ऊंचाई सड़क की चौड़ाई से डेढ़ गुना से अधिक नहीं

निर्धारित सेट बैक

2000 वर्गमीटर जमीन होने पर आगे 12, पीछे साढ़े चार, एक तरफ साढ़े चार और दूसरी ओर तीन मीटर छोडऩा जरूरी। इससे अधिक पर आगे 12, पीछे पांच, दाहिने व बाएं पांच-पांच मीटर छोडऩा आवश्यक। वहीं पूरी जमीन का 30 फीसद निर्माण और 70 फीसद क्षेत्र में खुला स्थान हो

पूर्व वीसी का सपना रह गया अधूरा

वीडीए के पूर्व वीसी राहुल पांडेय ने वर्ष 2019-20 में 13 वार्डों में टीम गठित करके सर्वे कराया तो 313 मैरिज लान प्रमुख मार्गों पर संचालित होते पाए गए। संचालकों के साथ वीडीए के अधिकारियों ने बैठक कर नक्शा पास कराने के साथ पार्किंग की व्यवस्था सुनिश्चित कराने को कहा। चेतावनी दी गई कि सड़क पर वाहन पार्किंग नहीं होनी चाहिए। 15 दिसंबर, 2019 को सभी मैरिज लान संचालकों को चेतावनी नोटिस जारी करने के साथ 15 जनवरी 2020 तक जवाब मांगा गया। मंडलायुक्त सभागार में तीन बार बैठक भी हुई। मनमानी करने पर वीडीए ने 23 मैरिज लान संचालकों को नोटिस तक थमाया लेकिन वीसी राहुल पांडेय के तबादले के साथ ही मामला ठंडे बस्ते में चला गया।

सात मैरिज लान के पास किराए की पार्किंग

शहर के प्रमुख मैरिज लान संचालकों की बात करें तो उनके परिसर में वाहन पार्किंग नहीं है। मैरिज लान से सटे दूसरे की जमीन किराया पर लिए हैं लेकिन वहां 100 से अधिक चारपहिया वाहन खड़े नहीं हो सकते। इसमें तिब्बती संस्थान मार्ग पर एक, पांडेयपुर चौराहे से ङ्क्षरग रोड, लहरतारा, भिखारीपुर से अखरी बाईपास रोड पर संचालकों ने किराए पर जमीन ले रखी है।

क्षमता से ज्यादा होती है भीड़

मैरिज लान में बैठने और खड़े होने की निर्धारित क्षमता होती है। क्षमता से अधिक लोगों के होने पर हादसे होने से इन्कार नहीं किया जा सकता। अक्सर मैरिज लान में खाने-पीने को लेकर धक्कामुक्की होती है।

विरोध करने पर करते हैं मारपीट

सड़क पर डांस कर रहे लोगों को मना करने पर वे मारपीट पर आमादा हो जाते हैं। मामला थाने भी पहुंचता है लेकिन होता कुछ नहीं है। पुलिस लेन-देन कर मामला खत्म कर देती है। भेलूपुर, लंका, सारनाथ, कैंट, कोतवाली थाने में सड़क जाम करने को लेकर अब भी कई मुकदमे दर्ज हैं।

मैरिज लान संचालकों को हर हाल में नक्शा पास कराना होगा

मैरिज लान संचालकों को हर हाल में नक्शा पास कराना होगा। वार्ड के जेई से इसकी रिपोर्ट मांगी जाएगी। जिन्हें नोटिस जारी है उन्होंने नक्शा पास क्यों नहीं कराया इसकी भी जांच की जाएगी।

- सुनील वर्मा, सचिव, वीडीए

Edited By: Saurabh Chakravarty